भारत-पाकिस्तान मैच : भारत ने 76 रन से मैच जीता

एडिलेड। भारतीय खिलाड़ियों ने पाकिस्तान के के सामने एक बार फिर अपना पराक्रम दिखाया और वर्ल्ड कप 2015 के हाई वोल्टेज मैच में उसे 76 रनों से मात दे दी।भारत ने पहले खेलते हुए निर्धारित 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 300 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तान की पूरी टीम 47 ओवरों में 224 रनों पर ढेर हो गई।

भारत की तरफ से मोहम्मद शमी ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 35 रनों की कीमत पर चार विकेट लिए।

301 रनों के लक्ष्य का पीछश करने उतरी पाकिस्तान टीम की शुरुआत तो मोहम्मद शमी ने खराब कर ही थी, जब उन्होंने यूनुस को आउट करके पाकिस्तान को पहला झटका दिया। इसके बाद पाकिस्तान ने हारिस और शहज़ाद की साझेदारी से अपनी पारी को कुछ हद तक जमा लिया था, लेकिन उमेश यादव पारी के 24वें  ओवर में लगातार दो विकेट लेकर पाकिस्तान को बैकफुट पर धकेल दिया। शमी ने अपने दूसरे स्पैल में एक ओवर में शाहिद अफरीदी (22) और वहाब रियाज़ (4) को आउट करके पाकिस्तान को गर्त में धकेल दिया। इसके बाद शमी ने पाकिस्तान की आखिरी उम्मीद कप्तान मिस्बाह उल हक को भी आउट करके भारत की जीत पर मुहर लगा दी।

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया के इस बड़े स्कोर में विराट कोहली के शतक (107) के अलावा सुरेश रैना (56 गेंदों में 74 रन) और शिखर धवन (73) के अर्धशतक का अहम योगदान रहा।
हालांकि अंतिम 10 ओवरों में भारतीय टीम ने उतनी तेजी से रन नहीं जुटाए, जितनी उम्मीद थी, लेकिन फिर भी भारतीय पारी का स्कोर 300 रन पहुंच ही गया। पाकिस्तान के लिए सोहेल खान सबसे सफल गेंदबाज रहे और उन्होंने 55 रन देकर पांच विकेट लिए।जवाब में पाकिस्तान की शुरुआत खराब रही। मोहम्मद शमी ने यूनुस खान को पारी के चौथे ओवर में चलता कर दिया। शमी के बाउंसर को यूनुस पूरी तरह खेल नहीं पाए और धोनी के दस्तानों में कैच थमा बैठे। यूनुस ने 6 रन बनाए।

एक विकेट गिर जाने के बाद पाकिस्तान के बल्लेबाजों ने विकेट पर टिकने की रणनीति अपनाई और एक और दो रन के सहारे पारी को आगे बढ़ाया। इस दौरान शमी की अगुवाई में भारतीय गेंदबाजों ने पाकिस्तान पर अंकुश बनाए रखा।

भारत को दूसरी सफलता आर अश्विन ने दिलाई। अश्विन ने हासिर सौहैल को स्लिप में कैच आउट करवाया। सौहेल ने 48 गेंदों पर 32 रन बनाए और उन्होंने शहज़ाद अहमद के साथ दूसरे विकेट के लिए 68 रनों की साझेदारी निभाई।

भारत को तीसरी और चौथी सफलता के लिए अधिक इंतज़ार नहीं करना पड़ा और उमेश यादव ने पारी के 24वें ओवर में पहले अहमद शहज़ाद (47) और फिर मकसूद (0) को पैवेलियन लौटा दिया। इसके बाद भारत को एक और बड़ी सफलता मिला जब उमर अकमल बिना खाता खोले जड़ेजा का शिकार बन गए।

इससे पहले कोहली ने भारत के लिए कमाल की पारी खेली। कोहली ने 126 गेंदों में 107 रनों की पारी खेली और इस दौरान आठ चौके जमाए। रैना ने क्रीज़ पर आते ही भारतीय पारी को गति दी और ताबड़तोड़ रन बटोरे। रैना ने आउट होने से पहले 56 गेंदों पर  74 रन ठोंके।

 

भारतीय बल्लेबाजों ने ठोस शुरुआत की। हालांकि रोहित शर्मा का विकेट उस समय गिर गया जब भारत के स्कोर बोर्ड पर 34 रन ही टंगे थे। रोहित ने 15 रन बनाए। रोहित के आउट होने के बाद धवन और कोहली ने पाकिस्तानी गेंदबाजों का जमकर मुकाबला किया और दूसरे विकेट के लिए महत्वपूर्ण साझेदारी निभाई। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए महत्वपूर्ण शतकीय साझेदारी निभाई।धवन भारत के दूसरे विकेट के रूप में आउट हुए। धवन अच्छे टच में थे और लग रहा था कि आज वे बड़ी पारी खेलेंगे, लेकिन कोहली के साथ हुई गलतफहमी के कारण धवन रन आउट हो गए। धवन और कोहली ने मिलकर दूसरे विकेट के लिए 22.2 ओवर में 129 रन जोड़े। धवन ने 76 गेंदों का सामना करते हुए सात चौके और एक छक्का लगाया और 73 रन बनाए।

रैना ने आते ही अपने हाथ दिखाए और पाकिस्तानी गेंदबाजों को बैचेन कर दिया। रैना ने चौकों और छक्कों की झड़ी लगा दी और देखते ही देखते अपना अर्धशतक पूरा किया।

धवन के रूप में भारत का दूसरा विकेट गिरा और इसके बाद खेलने आए सुरेश रैना ने विराट कोहली का बखूबी साथ निभाया। कोहली को हालांकि पाकिस्तान के विकेट कीपर उमर अकमल ने कैच टपकाकर जीवनदान दिया, लेकिन इसके बाद कोहली ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और भारतीय पारी को मजबूत स्थिति में पहुंचाया।

इससे पहले पारी की शुरुआत में भारत ने पारी का आगाज़ अच्छा किया, लेकिन बाद में रन गति को तेज करने के प्रयास में रोहित शर्मा ने अनचाहा स्ट्रोक खेलकर अपना विकेट गंवा दिया। रोहित शर्मा को सोहेल खान ने आउट किया। रोहित शर्मा के आउट होने के बाद विराट कोहली पारी संभालने के लिए मैदान पर आए। कोहली और धवन ने मैदान पर अच्छा खेल दिखाया और दूसरे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी निभाई।

विराट कोहली ने अपने क्रिकेट करियर का शानदार शतक जमाया। यह शतक कोहली का एकदिवसीय में 22 वां शतक है। कोहली ने 119 गेंदों का सामना करते हुए 100 पूरे किए। कोहली ने विश्वकप 2015 के पहले मैच में शतक लगाया।

source:webduniya.com

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz