भूकम्प के असर से अर्थतंत्र के सभी क्षेत्र प्रभावित ,बैंक के व्याज पर भी असर : कविता दास

कविता दास

कविता दास

काठमांडू,१५ जून २०१५ | भूकम्पसे जो नुक्सानी हुआ है उसपर राष्ट्रीय योजना आयोग ने नुक्सानी का आक्ऱा निकाला है | इस भूकम्प से नेपाल के अर्थतंत्र पर बहुत बड़ा नुक्सानी हुआ है. करीब सात खर्ब रूपैया तक का नुक्सानी का तय्थ बहार आया है. केन्द्रीय तथ्यांक बिभाग भी भूकम्प से जो क्षति हुआ है उसपर पूरी तरह से अध्यन किया  है |

बिनासकारी भूकम्प से सबसे ज्यादा असर रियलस्टेट, उद्योग ,पर्यटन, होटल उद्योग, बैक तथा वित्तिय संस्था पर दिखा है | बिभाग ने आर्थिक वृद्धिदर ३.०४% में ही सिमित होने कि जानकारी दी है|




निर्माण के लिए टिन का जस्ता का ही बिक्री ज्यादा

भूकम्प के बाद पुननिर्माण और निर्माणजन्य उत्पादन का माग ज्यादा होने का आनुमान किया गया था पर विभाग ने इस निर्माणजन्य उत्पादन के क्षेत्र में भी कमी होगी इसका आनुमान लगाया है| सरकार ने भवन निर्माण के काम में रोक लगा दिया है जिससे भवन निर्माण सामग्री की बिक्री में कमी हुई है | बस अभी टिन का जस्ता का ही बिक्री हो रहा है | चालू आर्थिक बर्ष में निर्माण क्षेत्रमें करीब ३.५६% सिमित होने का अनुमान किया गया था पर भूकम्प के बाद इस क्षेत्र में वृद्धिदर ५.८९ होने का अनुमान लगाया गया है |

रियल स्टेटमें असर

भूकम्प की वजह से रियलस्टेट और व्यवसायिक सेवामा में ज्यादा असर पड़ा है | विभाग के अनुसार चालु आर्थिक वर्ष में इस क्षेत्र में वृद्धिदर ४.८६ प्रतिशत से बढने का अनुमान किया गया था ,पर इस क्षेत्र में सब से ज्यादा असर होने से केबल ०.७७ प्रतिशत वृद्धि होने का अनुमान किया गया है . घर जमीन बिक्री की कारोबार में भी इस भूकम्प के कारन इसमें भी कमी हुए है . .

उद्योग भी प्रभावित

विभाग के अनुसार चालु आर्थिक वर्ष में उद्योग क्षेत्र मे आर्थिक वृद्धि दर ४.५५ होने का अनुमान किया गया था । पर भूकम्प के बाद इसका वृद्धिदर २.३५% हो गया है । वैसे भूकम्प के कारण से बहुत उद्योग में भौतिक क्षति हुई है जिस से कई उद्योग संचालन में नहीं आया है और उधर कामदार की भी कमी हो रही है . उत्पादित सामान की भी मांग नहीं होरहा है विभागने जानकारी दी है |

खाद्यान सामान आयत में कमी

भूकम्पसे थोक तथा खुद्रा व्यापार में भी प्रभाव दिखा है । चालु आर्थिक वर्ष में इस क्षेत्र में वृद्धिदर ५.५९ प्रतिशत से वृद्धि होने का अनुमान किया गया था । पर भूकम्पके बाद इस क्षेत्रमें वृद्धिदर ३. ४३ प्रतिशत में सिमित हो गया है ।

पर्यटक की कमी

भूकम्पके बाद इस क्षेत्रमें वृद्धि दर ३.९८ प्रतिशत में सिमित हो गया है विभाग ने जानकारी दी है | भूकम्पसे पहेल इस में वृद्धिदर ६.६० प्रतिशत होने का अनुमान किया गया था.अभी भूकम्प के कारण पर्यटक आने में कमी हुइ है और होटल रेष्टुरेन्ट में भौतिक क्षति भी बहुत हुआ है | विभाग के अनुसार बहार के पर्यटक ही नहीं आतंरिक पर्यटक में भी कामी आई है ,

बैंक के व्याज पर असर

चालु आर्थिक वर्ष में वित्तिय मध्यस्थता में कुल गार्हस्थ उत्पादन मे वित्तीय मध्यस्थता क्षेत्रमें २.०१ प्रतिशत होने का अनुमान किया गया था . पर भूकम्प के  बाद यह घटकर १.३७ प्रतिशत में बृद्धि होने का अनुमान किया गया है. बैंकिंग में जो लगनी किया जाता है उससे प्राप्त होने बाले व्याज आम्दानी में असर दिखा है . विभाग के अनुसार विमा कम्पनी के क्षेत्र में  वृद्धिदर को भी असर ओ हुआ है विभाग ने अनुमान किया है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: