भ्रष्ट कम्पनी के पक्ष में मन्त्री जितेन्द्र देव

काठमांडू, १ आश्वीन । संस्कृति, पर्यटन तथा नागरिक उड्यन मन्त्री जितेन्द्रनारायण देव भ्रष्ट कम्पनी के पक्ष में दिखाई दिए हैं । नेपाल सरकार द्वारा ‘ब्लकलिष्ट’ में सूचीकृत कम्पनी के पक्ष में मन्त्री देव हैं । यह समाचार आज प्रकाशित नागरिक दैनिक में है । समाचार अनुसार मन्त्री देव ने स्पेनिस कम्पनी सान होसे के पक्ष लेते हुए नेपाल नागरिक उड्यन प्राधिकरण के महानिर्देशक सञ्जीव गौतम के विरुद्ध स्पष्टीकरण लिया है ।


प्रधानमन्त्री तथा मन्त्रिपरिषद कार्यालय ने गत आषाढ़ २८ गते सान होसे को ‘ब्लकलिष्ट’ में रखा था । लेकिन अभी आकर मन्त्री देव ने महानिर्देशक गौतम को स्पष्टीकरण लिया है और सान होसे के साथ वार्ता और समन्वयन करने के लिए कहा है । मन्त्री देव को कहना है कि कम्पनी के साथ गौतम ने नाइन्साफी किया है । और आगे कहा है कि कम्पनी के साथ सहजीकरण करने के बजाय ठेक्का सम्झौता रद्द कर आयोजना की लागत और समय को बर्बाद किया है ।
स्मरणीय है– सान होसे के साथ त्रिभुवन अन्तर्राष्ट्रीय विमानस्थल निर्माण के लिए सम्झौता की गई थी । लेकिन ‘काम सन्तोषजनक नहीं है’, ऐसा कहते हुए प्राधिकरण सञ्चालक समिति ने २०१६ दिसम्बर २७ तारिख में सान होसे के साथ ठेक्का सम्झौता रद्द की थी । यहा तक कि कम्पनी को प्राप्त पर्फमेन्स ग्यारान्टी और अग्रिम भुक्तानी भी जफत किया था । उसके वाद हवाई यातायात क्षमता अभिवृद्धि आयोजना द्वारा अनुरोध होने पर नेपाल सरकार ने उक्त कम्पनी को ‘ब्लकलिष्ट’ रखा था ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz