मकर संक्रांति का पुण्यकाल गुरूवार को यानी 15 जनवरी को

मकर संक्रांति का पुण्यकाल गुरूवार को यानी 15 जनवरी को ही माना जाएगा।
14 या 15 जनवरी को मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है। जिस दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है, उस दिन मकर संक्रांति मनाई जाती है। इस वर्ष 14 जनवरी की शाम को सूर्य मकर राशि में प्रवेश कर रहा है, इस कारण 14 नहीं, 15 जनवरी को मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाना चाहिए।
तिथि एवं पुण्य काल को लेकर इस बार 15 जनवरी को मकर संक्रांति का पर्व मनाया जायेगा। बुधवार की रात 12 बजकर 49 मिनट तक नवमी तिथि है। उसके बाद दशमी तिथि होगी। मकर संक्रांति का पर्व दशमी तिथि को मनाया जाता है। इसके अलावा बुधवार की रात 20 बजकर 20 मिनट पर सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेगा। सूर्य जीरो अशं पर है आप देख सकते है इसीलिए मकर संक्रांति का पुण्यकाल गुरूवार को यानी 15 जनवरी को ही माना जाएगा। सूर्य मकर राशि मे जब रात्री मे आ रहे है तब उदय काल कि तिथि में हि पर्व को मना कर धर्म लाभ उठाना चाहिय
स्नान-दान का पवित्रतम पर्व है मकर संक्रांति

इस पर्व पर तीर्थराज प्रयाग एवं गंगा सागर में स्नान को महा स्नान की संज्ञा दी गयी है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन भगवान भास्कर अपने पुत्र शनि से मिलने स्वयं उसके घर जाते है। इसलिए इस दिन को ‘मकर संक्रांति’ के नाम से जाना जाता है। मकर संक्रांति श्ििवर ऋतु की समाप्ति और वसंत के आगमन का प्रतीक है। इसे भगवान भास्कर की उपासना एवं स्नान-दान का पवित्रतम पर्व माना जाता है। कर्क संक्रांति एवं मकर संक्रांति महत्वपूर्ण है। क्योंकि कर्क से मकर संक्रांति तक की अवधि में सूर्य दक्षिणायन रहते है, जो देवताओं के लिए रात्रि है। इसमें शुभ कार्य वर्जित है। मकर से कर्क संक्रांति तक की अवधि में सूर्य उत्तरायण रहते है, जिसे देवताओं का दिन कहते है। इसलिए मकर संक्रांति के बाद से शुभ कार्य प्रारंभ हो जाता है। इसे हिंदुओं का ‘बड़ा दिन’ भी कहा जाता है। दूसरी मान्यता यह भी है कि सूर्य अपनी बारह राशियों में प्रतिदिन एक डिग्री बढ़ते हुए हर राशि एक माह में एवं भचक्र की परिक्रमा एक वर्ष में पूरा करता है। एक राशि से दूसरी राशि में सूर्य हर महीने की चौदह तारीख के आस-पास परिवर्तन करता है। जिसे ‘संक्रांति’ कहते है।
प० राजेश कुमार शर्मा भृगु ज्योतिष अनुसन्धान एवं शिक्षा केन्द्र सदर गजं बाजार मेरठ कैन्ट मौबाईल नम्बर 09359109683

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: