मणिपुर समेत पूर्वोत्तर राज्यों में भूकंप के तेज झटके, देखें तस्‍वीरें

सोमवार की सुबह पूर्वोत्तर के राज्यों के लिए आफत की सुबह बन कर आयी। भूकंप के तेज झटकों से धरती हिल गयी। मणिपुर की राजधानी इंफाल से महज 33 किमी दूर तामेंग्लांग जिले में भूकंप का केंद्र था। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.7 मापी गई। सुबह करीब 4 बजकर 35 मिनट पर आए भूकंप की वजह से इंफाल में तीन लोगों की मौत की खबर है जबकि 100 लोग घायल बताए जा रहे हैं। असम अरुणाचल प्रदेश समेत पश्चिम बंगाल, बिहार और झारखंड में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप के झटकों की मकान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गये हैं। भूकंप के बाद इंफाल में बिजली भी काट दी गई है। धरती हिलने से पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल है। लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकले हुए हैं।

पूर्वोत्तर भारत और बांग्लादेश में भूकंप के तेज़ झटके महसूस किए गए हैं.
समाचार एजेंसी पीटीआई ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के हवाले से बताया है कि भूकंप से मणिपुर में पांच की मौत हो गई है और 33 लोग घायल हुए हैं.
अमरीकी भूगर्भ सर्वेक्षण केंद्र ने भूकंप की तीव्रता शुरू में 6.8 बताई थी जिसे बाद में सुधार कर 6.7 कर दिया गया.
यूएसजीएस के मुताबिक भूकंप का केंद्र मणिपुर की राजधानी इंफाल से 29 किलोमीटर पश्चिम में था.
भूकंप के झटके स्थानीय समय के मुताबिक 4.35 बजे महसूस किए गए.

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार एनडीआरएफ़ की टीमों को गुवाहाटी से प्रभावित इलाकों में जाने के निर्देश दिए गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री नबाम तुकी से भी भूकंप के हालात पर बात की है.
प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर बताया कि इलाके में आए भूकंप के हालात पर उन्होंने असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई से फोन पर बात की और पूरी स्थिति का जायजा लिया है.

मोदी ने ट्वीट कर ये भी कहा कि वे असम के दौरे पर गए गृहमंत्री राजनाथ सिंह के संपर्क में हैं और भूकंप से जुड़े हालात के पल-पल की खबर ले रहे हैं.
भारत की केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारामन ने ट्वीट किया, “सिलीगुड़ी के सरकारी गेस्ट हाउस में मैंने अपना कमरा हिलता हुआ महसूस किया. उम्मीद है सभी ठीक होंगे.”
कोलकाता से ज़ैदुल हक़ ने बीबीसी को बताया, “पूरा पलंग और अलमारी हिल गए. डर के मारे मेरी बेटी चिल्लाने लगी. मेरी बीवी-बेटे समेत सब उठ गए. इतना जोर का झटका मैंने कभी महसूस नहीं किया है. झटका बहुत देर तक रहा और हम यही सोच रहे थे कि क्या किया जाए.”
ट्विटर और फ़ेसबुक पर लोगों ने भूकंप के बारे में पोस्ट किया है.

सिलिगुड़ी से सियोन माना ने लिखा, “मेरी नींद खुल गई. पूर्वोत्तर भारत में झटके. कभी सोचा नहीं था कि ऐसे हिलते हुए बिस्तर में सोकर उठूंगा.”
बांग्लादेश की राजधानी ढाका से भी लोगों ने भूकंप के झटके महसूस करने के बारे में लिखा है.
भूकंप के झटके झारखंड के रांची, बिहार के बेगुसराय और गया समेत कई अन्य शहरों में भी महसूस किए गए हैं.

source:bbc,dainikjagran

loading...