मन को नियन्त्रण करने से जीवन सार्थक बनाने में सम्भव

1नेपालगन्ज,(बाँके) पूर्ण लाल चूके,पवन जायसवाल, फाल्गुन २४ गते ।
ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय क्षेत्रीय कार्यालय नेपालगन्ज ने आइतवार नेपालगन्ज में आयोजन किया सुस्वास्थ्य, समृद्धि एवं खुशी की रहस्य ९त्जभ क्भअचभत या (The Secret of Health, Wealth & Happiness) विषयक त्रिदिवसीय शिविर की उद्घाटन उप–प्रधानमन्त्री स्थानीय विकास तथा संघीय मामिला सम्बन्धि मन्त्री प्रकाशमान सिंह ने किया ।
त्रिदिवसीय शिविर की उद्घाटन उप–प्रधानमन्त्री स्थानीय विकास तथा संघीय मामिला सम्बन्धि मन्त्री प्रकाशमान सिंह ने कहा मानव जाति ने मन को नियन्त्रण करें तो जीवन में आनेवाली जैसे बडी समस्या और शक्ति से भी मुकाविला कर सकते है और जीवन को सार्थक बनाने में सम्भव हो सकता है बताया ।
उप–प्रधानमन्त्री स्थानीय विकास तथा संघीय मामिला सम्बन्धि मन्त्री प्रकाशमान सिंह ने कहा समाज में नैतिक मूल्य को जगेर्ना तथा शान्ति स्थापना के क्षेत्र में सेवारत अन्तर्राष्टीय आध्यात्मिक संस्था ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय क्षेत्रीय कार्यालय नेपालगन्ज के आयोजन में त्रिदिवसीय शिविर की उद्घाटन करते समय अपना राजनीतिक जीवन में
घटा हुआ घटनाए“ से जोडते हुयें बताया ।
2उन्हों ने अपने पिता नेपाली का“ग्रेस के संस्थापक नेता स्व. गणेशमान सिंह थे और माता का“ग्रेस नेतृ स्व. मंगलादेवी भी ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की अनुयायी होने के नाते से भी इस संस्था से अपना लगाव रहा है चर्चा किया था । उन्हों ने समाज को सकारातमक दिशा में ले चलना , असल चरित्र निर्माण करना, मनमस्तिष्क को सन्तुलित रखना और आध्यात्मिक तथा भौतिक विकास के साथ समन्वय करना संस्था ने जो किया अतुलनीय योगदान की सराहना किया । उप–प्रधानमन्त्री प्रकाशमान सिंह ने मानव जीवन को मन ही सुख, शान्ति और समृद्धि की मेरुदण्ड है कहते हुयें मन आनन्द और स्थिर रखने के लियें मानसिक रुप में स्वस्थ रहें  तक मात्र शारीरिक रुप में स्वस्थ और खुशी रख सकते है उन्हों ने बताया ।
अध्यक्ष के ओर आसन से उद्घाटन समारोह में व्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय तथा राजयोग केन्द्र नेपालगन्ज की क्षेत्रीय संचालिका व्रम्हाकुमारी दुर्गा ने शिविर के महत्व बारे में प्रकाश डालते हुयें स्वस्थ, समृद्धि एवं खुशी की रहस्य अन्तर्गत सम्बन्ध में मधुरता, सकारात्मक चिन्तन, आन्तरिक शक्ति, स्वास्थ्य आप सभी लोगों के हाथों में,
राजयोगद्वारा स्नेहपूर्ण जीवन जीने की कला लगायत के विषय पर मंगलवार तक तीन समूह में शिविर संचालन होगी जानकारी दिया ।
वरिष्ठ राजयोगिनी व्रम्हाकुमारी दुर्गा ने जब तक मानसिक रुप में ईसान स्वस्थ नही रहेगा तब तक शारीरिक रुप में स्वस्थ और सुखी रहने में सम्भव नही रहेंगें कहते हुयें उन्हों ने मानसिक रुप में मन स्वस्थ होते ही सभी प्रकार की असहज परिस्थितियों पर विजय प्राप्त करके जीवन को  सफल कर सकते है विचार व्यक्त कि थी ।
3 व्रम्हाकुमारी दुर्गा ने मानवीय मूल्य, नैतिक चरित्र ¥हास हुआ है तथा तनाव से एकदम हतास, उदास, उराठ और निराश में रहा जीवन को सार्थक बनाकर स्वस्थ रहने की कला शिविर में सिखाया जाएगा और मन को सन्तुलित रखने की विधि पद्दति सिख सकते है बतायी थी ।
उसी अवसर पर उप–प्रधानमन्त्री प्रकाशमान सिंह ने प्रमुख प्रशिक्षक भारत मुम्बई के अन्तर्राष्टीय ख्यातीप्राप्त व्यवस्थापन विशेषज्ञ, असीम धैर्य और सिर्जनात्मक प्रकृति के उर्जाशील प्रशिक्षक, ओजश्वी प्रखर वक्ता ब्रम्हाकुमार प्राध्यापक ई.भि. गिरीश को नेपाली टोपी लगाकर सम्मान किया था आयोजक संस्था के ओर से उपप्रधानमन्त्री किाशमान सिंह को व्रम्हाकुमारी दुर्गा ने दोसल्ला ओढाकर ईश्वरीय उपहार देकर सम्मान किया । कार्यक्रम सञ्चालन व्रम्हाकुमार दीपक ने किया था उसी समारोह में संस्था के पश्चिमाञ्चल क्षेत्रीय केन्द्र भैरहवा के सचिव व्रम्हाकुमार भूपेन्द्र ने स्वागत भाषण किया था केन्द्र के बालिकाओं ने सामूहिक स्वागत नृत्य प्रस्तुत किया था ।
समारोह में संविधानसभा के सभासद दल बहादुर सुनार, सरबत आरा खानम, सविया प्रवीण, बाद शाह कुर्मी, जिला  न्यायाधीश हरिकृण्ण केसी, प्रमुख जिला अधिकारी वेद प्रकाश लेखक, जिला प्रहरी कार्यालय बा“के के प्रहरी प्रमुख बसन्त पन्त लगायत लोगों की उपस्थिति रही थी ।
शिविर प्ररम्भ ः
उद्घाटन कार्यक्रम के तुरुन्त ही सुस्वास्थ्य, समृद्धि एवं खुशी की रहस्य (The Secret of Health, Wealth & Happiness)विषयक त्रिदिवसीय शिविर शुरु हुआ था । शिविर में प्रमुख प्रशिक्षक ब्रम्हाकुमार प्राध्यापक ई.भि. गिरीश ने एकदम रोचक और
सरल ढंग से सहजीकरण किया था ।
सुबाह के पहला समूह में संविधानसभा के सभासद् दल बहादुर सुनार, सरबत आरा खानम, सविया प्रवीण, बाद शाह कुर्मी, जिला  न्यायाधीश हरिकृण्ण केसी, नेपालगन्ज नगरपालिका के पूर्व मेयर डा. धवल शम्शेर राणा, नेपालगन्ज उद्योग व्यापार संघ के अध्यक्ष कृष्ण प्रसाद श्रेष्ठ, मुस्लिम धर्म गुरु मौलाना अब्दुल मन्जरी, नेपालगन्ज उपमहानगर पालिका के कार्यकारी अधिकृत विष्णु भुसाल, कोहलपुर नगरपालिका के कार्यकारी अधिकृत गोविन्द प्रसाद पाण्डेय लगायत पत्रकार, चिकित्सक, इन्जीनियर, सरकारी कार्यालय के प्रमुख, शैक्षिक, सामाजिक, र्धािर्मक संघसंस्था, वित्तिय संस्था, कानुन व्यवसायी, निर्माण व्यवसायी, उद्योगी, व्यापारी, विद्यार्थी लगायत समाज के विभिन्न क्षेत्रका करीब ४ सौ व्यक्तियों की सहभागिता रही थी ।
इसी तरह सुबाह, दोपहर और शाम को अलग–अलग करके तीन समूह में समाज के विभिन्न क्षेत्र के करीब १५ सौ लोगों की सहभागिता रहेंगी तीन दिवसीय शिविर में निःशुल्क प्रवेश की व्यवस्था भी किया गया है व्रम्हाकुमार दीमक ने जानकारी दिया ।
नेपाल में पहली बार गत फाल्गुण १४ गते को लुम्बिनी अञ्चल के भैरहवा से आरम्भ हुआ शिविर कैलाली के धनगढी और टिकापुर में आयोजन किया गया और सुर्खेत जिला के वीरेन्द्रनगर में फागुन २७ गते से २९ गते तक शिविर होगी ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: