मरीज ऑपरेशन रूम में सैक्सोफोन बजाता रहा अाैर डॉक्टरों की टीम ने की ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी

न्यूयॉर्क।४ सितम्बर 

अमेरिका में ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी का अनोखा मामला सामने आया है। मरीज ऑपरेशन रूम में सैक्सोफोन बजाता रहा और डॉक्टरों की टीम ने उसके मस्तिष्क में मौजूद ट्यूमर को सफलतापूर्वक निकाल दिया।

डॉक्टरों की मानें तो ट्यूमर मस्तिष्क के उस हिस्से में स्थित था जहां से संगीत संबंधी क्षमता नियंत्रित होती है। डैन फैबियो न्यूयॉर्क के एक स्कूल में म्यूजिक टीचर हैं। वह साथ में संगीत में मास्टर्स की डिग्री भी ले रहे हैं।

अचानक उन्हें पता चला कि उन्हें ब्रेन ट्यूमर है। हालांकि, यह कैंसर वाला ट्यूमर नहीं था। यूनिवर्सिटी ऑफ रॉचेस्टर मेडिकल सेंटर के न्यूरोसर्जन वेब पिलचर ने उनकी सर्जरी में अहम भूमिका निभाई थी।

उन्होंने बताया कि जब वह फैबियो से पहली बार मिले तो वह संगीत की क्षमता गंवाने की बात को लेकर बेहद चिंतित थे।

इसे देखते हुए डॉक्टरों ने ब्रेन स्कैनिंग के दौरान फैबियो की संगीत क्षमता की जांच के लिए नई सीरीज विकसित की। एमआरआइ के दौरान उन्हें इसे सुनकर गुनगुनाने को कहा गया था।

इस दौरान मस्तिष्क में ऑक्सीजन के स्तर में बदलाव का पता चला। इसके आधार पर संगीत के दौरान सक्रिय रहने वाले हिस्से की पहचान की गई।

सर्जरी की प्रक्रिया के दौरान फैबियो को सैक्सोफोन बजाने का निर्देश दिया गया था। उन्हें लंबी तान के बजाय छोटे नोट्स के आधार पर सैक्सोफोन बजाने को कहा गया था।

इसका मकसद ऑक्सीजन की मात्रा को संतुलित बनाए रखना था। इस तरह उनके ट्यूमर का सफल ऑपरेशन किया गया।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: