Wed. Sep 19th, 2018

महाकाली संधि २२ वर्षाें के बाद भी विवादित

१३ सितम्बर

महाकाली सन्धि द्वारा व्यवस्था हुए ‘महाकाली नदी आयोग’ गठन नहीं हाेने से दाे  देशाें के बीच जलस्रोत बँटवारा जैसे  दर्जनौं विवादास्पद मुद्दा जटिल बना हुअा है  । भारत के साथ कई  बैठक  हाेने के बाद भी पानी बँटवारे के विषय में मुद्दा निरुपण नहीं हाेने के कारण अायाेग का अभाव महसूस हाे रहा है ।

तत्कालीन प्रधानमन्त्री शेरबहादुर देउवा अाैर  भारतीय प्रधानमंत्री पीवी नरसिंह राव ने  ०५२ साल माघ २९ गते महकाली सन्धि में हस्ताक्षर किया था ।

सन्धि में हस्ताक्षर हाेने के बाद भी महाकाली के पानी का बँटवारा , सन्धि में उल्लेख नही‌ं हाेने के कारण भारतीय उपभोग्य उपभोग का अधिकार अाैर नेपाल काे मिलने वाला  पानी के विषय में दाे देशाें के बीच विवाद बना हुअा है ।

भारत के नयाँदिल्ली में दाे देश के जलस्रोतसचिवस्तरीय बैठक में भी  पानी बँटवारे अाैर  सन्धि के व्याख्या में अपनी अपनी जिद पर अडे रहने के कारण सन्धि के २२ वर्ष गुजरने के बावजूद अाज तक सहमति नहीं बन पाई है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of