Thu. Sep 20th, 2018

मुठभेड शंकास्पद प्रहरी की भुमिका से उपजे प्रश्न

८ अगस्त

राजधानी में ११ वर्षीय बालक निसान खडका का  अपहरण अाैर हत्या करने वाले दाे  युवक की माैत प्रहरी मुठभेड में हुइृ या नहीं यह शक की जा रही है ।

पेप्सीकोला टाउन से आइतबार अपहरित निसान की हत्या की पुष्टि सोमबार काे हुई थी ।

इसके साथ ही अपहरण अाैर हत्या में संलग्न  गोपाल तामाङ अाैर अजय तामाङ  की माैत प्रहरी के साथ मुठभेड में हाेने का दावा किया जा रहा है ।  महानगरीय प्रहरी अपराध महाशाखा ने विज्ञप्ति भी जारी की थी ।

सूर्यविनायक नगरपालिका–८ पाइलट बाबा आश्रम जाने वाले जंगल में अपहरणकारीले प्रहरी टोली के उपर गोली प्रहार करने पर आत्मरक्षा के लिए चली गोली से उनकी मृत्यु की बात महाशाखा  दाबी कर रहा है । पर अपहरणकारी काे नियन्त्रण में लिए बिना  गोली ही क्याें चलाना पडा यह प्रश्न उठ रहा है ।  कुछ प्रश्न है जिसका जवाब नहीं मिल रहा है ।

१. अपहरणकारी काे बिना नियन्त्रण में लिए गोली चलाने की अवस्था कैसे अाई ?

२. नगदेशस्थित डेरा से अपहरणकारी कैसे पाइलट बाबा आश्रम  जंगल तक पहुँचे ?

३. प्रहरी १९ राउन्ड फायर करने पर भी अपहरणकारी की अाेर से एक भी गोली क्याें नहीं चली ?

४. अपहरणकारी काे पकडने अाैर मारने के बाद  प्रहरी कहाँ लेकर गए ?

५. कितनी  दूरी से गोली मारा गया अाैर शरीर के काैन काैन से भाग में गाेली लगी

कान्तिपुर दैनिक से

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of