मैने देखा है

पलाष्टिकके गुलजस्तासे महक आते मैने देखा है

Ujjawal  KS Kushwaha

Ujjawal KS Kushwaha

कसाइभी अनाथो पर दया देखाते मैने देखा है
पानी तो क्या
हवाभी गुब्बारेमे भरकर बेचते मैने देखा है
यहा देखने दिखानेको सबकुछ है
कुछ इन्सानोके लिए बीबी भी बदली किया जाता है
और तो और
माँ भी खरीदी जाती है, माँ का दूध भी खरीदा जाता है
अपने ही बच्चोको गले दबाते
अपने ही लालको विष पिलाते
नजरके सामने पानीको दूध बना बेच डालते मैने देखा है
बिन पानी बरसात कराते
पत्थरकी मूर्तिको दूध पिलाते
भुखे नंगेको छटपटाते
दर्द भरे दिलमे मलहम लगाते मैने देखा है
गरीबीमे बच्चेको बेच डालते
चल रहे लोगोको पैर कुचलते
जातियताके नामपे लोगोका गला दबाते मैने देखा है
दोस्त बनके पैरमे छिटकी लगाते
भाइ भाइको कत्ल करते
बाप बेटीको हवसका सिकार बनाते मैने देखा है
पैरोमे घुँघरm बाँध रखैलको नाचते
खाते और खिलाते मैने देखा है
धुप बाल भगवानको भोग लगाते
नंगे पावमे मलम पटी लगाते
अपने जुनूनमे मर मिटने बाले कद्रदान इन्सानको भी मैने देखा है
झुट बोल पैसा भजानेबाला
पहाडको कुदने, समुद्रको पिने
और हवामे तैर जानेबाले
फौलाद जिगरबाले युवा इनसानको भी मैने देखा है

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: