मोटापा गैरेंटेड कम होगा

क्या आप मोटापे से परेशान हैं – मोटापे के कारण आपको कई बीमारियों से घिरने की आशंका आपको सता रही है – आप कई जतन कर थक चुके हैं। अगर आपके साथ भी यही समस्या है यदि हां।तो हो सकता है ये अचूक उपाय आपके वजन को कम करने में आपकी मदद कर सके। इसके लिए आपको नहीं बहुत मेहनत करनी है और न डाइटिंग आपको सिर्फरोज कुछ देर नार्मल वर्कआउट के अलावा पंद्रह मिनट योग मुद्रा करना है। जी हां जिन लोगों का मोटापा कम नहीं होता है। वे लोग यदि संतुलित भोजन के साथ ही नियमित वर्कआउट के साथ पंद्रह मिनट इस मुद्रा को भी दें तो निश्चित ही मोटापे में कमी आती है।
फिट बाँडी होने के बावजूद पेट और कमर का मोटापा बढने से कहीं आप भी तो परेशान नहीं। रिंग फिंगर को मोडÞकर उसके ऊपरी नाखून वाले भाग को अंगूठे के जडÞ पर दवाब डालें और अंगूठा मोडÞकर रिंग फिंगर पर निरंतर दबाव -हल्का) बनाये रखें तथा शेष अंगुलियों को अपने सीध में सीधा रखें। इस तरह जिस मुद्रा का निर्माण होगा उसे र्सर्ूय मुद्रा कहते हैं। यह मुद्रा शारीरिक मोटापा घटाने में अत्यंत सहायक होता है। जो लोग मोटापे से परेशान हैं, इस मुद्रा का प्रयोग कर असर देख सकते हैं।
क्यों अचानक बढने लगता है मोटापा –
मोटापे से कई बीमारियां जन्म लेती हैं जैसे हार्ट अटैक, हाई ब्लड प्रेशर। स्त्री हो या पुरुष, उनका वजन उनकी लंबाई के हिसाब से होना चाहिए जैसे छ फिट लंबाई हो तो वजन ६० किलोग्राम कुछ कम या ज्यादा हो तो एडजस्ट किया जा सकता है। मोटापे का मतलब है हमारी ऊंचाई के अनुपात में अत्यधिक वजन होना। मोटापे की समस्या होने पर व्यक्ति का पूरा शरीर थुलथुला हो जाता है और मांसपेशियां भी ढीली हो जाती है। कूल्हे व पीठ का भाग बढÞ जाता है, पेट लटक जाता है, हाथ व जांघ थुलथुले हो जाते हैं। यह सभी मोटापे के ही लक्षण हैं।
वजन बढने के पीछे कई कारण हैं जैसेः
गिलत रहन-सहन और बुरी आदतों की लत के चलते भी मोटापे की समस्या बढÞ जाती है।
लिगभग प्रतिदिन मांस-मदिरा का सेवन करने वाले लोगों में तो मोटापे की समस्या रहती ही है। मांस से शरीर में चर्बी बढÞती है।
हिमारे पास योगा और अन्य शारीरिक श्रम का समय नहीं होता, जिससे शरीर में वसा की अधिकता हो जाती है।
हिमारे शरीर में र्ऊजा ज्यादा उत्पन्न होती है और उस र्ऊजा का पर्ूण्ा उपयोग ना होने पर वह शरीर के उन्हीं भागों में चर्बी के रूप में जमा हो जाती है। इसके परिणाम स्वरूप वजन बढÞने लगता है।
खिाना, सोना और आरामर् का नियमित समय नहीं होने पर। जिससे शरीर के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पडÞता है।
स्िवास्थ्यवर्धक खाने की चीजों से हम दूर होते जा रहे हैं। सात्विक भोजन की जगह जंक फूड ने ली है।
कैसे दूर करें मोटापा
मोटापे से कई बीमारियां जन्म लेती हैं जैसे हार्ट अटैक, हाई ब्लड प्रेशर, इसी तरह महिलाओं में मोटापे से चलना मुश्किल हो जाता है। स्त्री हो या पुरुष, उनका वजन उनकी लंबाई के हिसाब से होना चाहिए जैसे छ फिट लंबाई हो तो वजन ६० किलोग्राम कुछ कम या ज्यादा हो तो एडजस्ट किया जा सकता है।
बिदन हल्का छरहरा होना चाहिए। इतना वजन हो कि इंसान खुद से अपना भार उठा सके, जिंदगी का सुख ले सके, मोटापा से छुटकारा पाएं, दर्ीघजीवी हों।
मिोटापा शरीर में चर्बी बढÞने से होता है, इसलिए चर्बीयुक्त तथा कार्बाेहाइड्रेट युक्त पदार्थ का सेवन ना करें। – हम अपने खाने-पीने का ध्यान ठीक से नहीं रखते, इसलिए मोटापा बिना पूछे बढÞता रहता है। जैसे मांस, घी, चावल, तली चीजें, खाना खाने के बाद मीठा खाना, अधिक केले खाना, चिकनाई वाले पदार्थ खाना, खाना खाने के बाद तुरंत सो जाना, जरूरत के अनुसार श्रम ना करना, हमेशा जरूरत से ज्यादा खाना खाना, मासिक धर्म ना होना या गडÞबडÞी होने से भी मोटापा बढÞता है।
भिूख से कम खाएं, फल ज्यादा खाएं, हरी सब्जियां खाएं, भोजन के एक घंटे बाद पानी पिएं।
गिाजर का जूस रोज पिएं।
अिंकुरित अनाज खाएं, लो कैलोरी वाला भोजन लें।
ििचकनाई युक्त पदार्थ कम से कम खाएं।
हिरी सब्जियां अधिक खाएं, नमक कम खाएं, टमाटर खाएं।
हिफ्ते में एक बार उपवास करें।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: