मोर्चा द्वारा बैठक बहिष्कार विजेता चौधरी, काठमाण्डू २४ संयुक्त लोकतान्त्रिक मधेसी मोर्चा ने व्यवस्थापिका संसद की आज के बैठक पुनः बहिष्कार किया है । बैठक प्रारम्भ होने की घोषणा के साथ ही मोर्चा आवद्ध राजनीतिक दल के सांसदो ने उठकर विरोध जताया । विरोध के बाद सभामुख ओनसरी धर्ती ने मोर्चा की तरफ से सांसद अकवाल अहमद साह को बोलने के लिए समय प्रदान किया । सांसद साह ने संविधान के अन्र्तवस्तु के विषय को लेकर मार्चा ९ महीने से सड़क पर आन्दोलन व अनसन कर रही लेकिन सरकार व प्रमुख राजनीतिक दल के नेता बेवास्ता कर रहें है आरोप लगाते हुए आन्दोलनकारी के मांगों को सम्बोधन नहीं किया गया तो देश दुर्घटना में जाने की चेतावनी भी दी । इस के साथ ही सांसद साह ने वर्तमान संविधान नेपाली जनता के हक अधिकार के विरुद्ध में है कहते हुए परिमार्जन न होने तक स्वीकार नहीं किया जाएगा कहा । साह ने जब तक मार्चा के मांगों को पूरा नहीं किया जाएगा तब तक सदन के बैठक बहिष्कार करने की जानकारी कराते हुए मोर्चा आवद्ध राजनीतिक दल के सांसद बैठक से बाहर होगएँ थें । गौरतलब है विगत नौ महीनों से आन्दोलनरत मोर्चा आवद्ध सांसद निरन्तर रूप से सदन बहिष्कार करते आ रहे हंै ।

मोर्चा द्वारा बैठक बहिष्कार
विजेता चौधरी, काठमाण्डू २४

मोर्चा द्वारा बैठक बहिष्कार
विजेता चौधरी, काठमाण्डू २४
संयुक्त लोकतान्त्रिक मधेसी मोर्चा ने व्यवस्थापिका संसद की आज के बैठक पुनः बहिष्कार किया है । बैठक प्रारम्भ होने की घोषणा के साथ ही मोर्चा आवद्ध राजनीतिक दल के सांसदो ने उठकर विरोध जताया ।
विरोध के बाद सभामुख ओनसरी धर्ती ने मोर्चा की तरफ से सांसद अकवाल अहमद साह को बोलने के लिए समय प्रदान किया ।
सांसद साह ने संविधान के अन्र्तवस्तु के विषय को लेकर मार्चा ९ महीने से सड़क पर आन्दोलन व अनसन कर रही लेकिन सरकार व प्रमुख राजनीतिक दल के नेता बेवास्ता कर रहें है आरोप लगाते हुए आन्दोलनकारी के मांगों को सम्बोधन नहीं किया गया तो देश दुर्घटना में जाने की चेतावनी भी दी ।
इस के साथ ही सांसद साह ने वर्तमान संविधान नेपाली जनता के हक अधिकार के विरुद्ध में है कहते हुए परिमार्जन न होने तक स्वीकार नहीं किया जाएगा कहा । साह ने जब तक मार्चा के मांगों को पूरा नहीं किया जाएगा तब तक सदन के बैठक बहिष्कार करने की जानकारी कराते हुए मोर्चा आवद्ध राजनीतिक दल के सांसद बैठक से बाहर होगएँ थें ।
गौरतलब है विगत नौ महीनों से आन्दोलनरत मोर्चा आवद्ध सांसद निरन्तर रूप से सदन बहिष्कार करते आ रहे हंै ।rela ansan suru
संयुक्त लोकतान्त्रिक मधेसी मोर्चा ने व्यवस्थापिका संसद की आज के बैठक पुनः बहिष्कार किया है । बैठक प्रारम्भ होने की घोषणा के साथ ही मोर्चा आवद्ध राजनीतिक दल के सांसदो ने उठकर विरोध जताया ।
विरोध के बाद सभामुख ओनसरी धर्ती ने मोर्चा की तरफ से सांसद अकवाल अहमद साह को बोलने के लिए समय प्रदान किया ।
सांसद साह ने संविधान के अन्र्तवस्तु के विषय को लेकर मार्चा ९ महीने से सड़क पर आन्दोलन व अनसन कर रही लेकिन सरकार व प्रमुख राजनीतिक दल के नेता बेवास्ता कर रहें है आरोप लगाते हुए आन्दोलनकारी के मांगों को सम्बोधन नहीं किया गया तो देश दुर्घटना में जाने की चेतावनी भी दी ।
इस के साथ ही सांसद साह ने वर्तमान संविधान नेपाली जनता के हक अधिकार के विरुद्ध में है कहते हुए परिमार्जन न होने तक स्वीकार नहीं किया जाएगा कहा । साह ने जब तक मार्चा के मांगों को पूरा नहीं किया जाएगा तब तक सदन के बैठक बहिष्कार करने की जानकारी कराते हुए मोर्चा आवद्ध राजनीतिक दल के सांसद बैठक से बाहर होगएँ थें ।
गौरतलब है विगत नौ महीनों से आन्दोलनरत मोर्चा आवद्ध सांसद निरन्तर रूप से सदन बहिष्कार करते आ रहे हंै ।

Loading...
%d bloggers like this: