मोर्चा ने एमाले के नेताओं और कार्यकर्ता को सरेआम दुव्र्यवहार कर रहा हैं : एमाले

Emale office
हिमालिनी डेस्क
काठमांडू, १२ अप्रील ।
प्रतिपक्षी दलों ने संविधान प्रदत्त अधिकार अनुसार धुकफिर जमघट और आमसभा करने के लिए सुरक्षा की सुनिश्चिता न देसक्ने को लेकर सरकार की आलोचना की हैं ।
व्यवस्थापिका–संसद् की बैठक में समय लेकर एमाले के रवीन्द्र अधिकारी ने कहा तराई में मोर्चा के नाम पर एमाले के नेता कार्यकर्ता के घरों में तोडफोड और हमला होने के बाद भी सरकार ने उस बिषय पर कोई एक्सन नहि लीया ।
बैठक मे नेमकिपा के प्रेम सुवाल ने कहा तत्काल संविधान संशोधन की कोई जरुरत नहि हैं इस बीच मधेश केन्द्रित दलों ने व्यवस्थापिका संसद की आज की बैठक का भी बहिष्कार किया ।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz