मोहन विक्रम, वैद्य और विप्लव के बीच पार्टी एकीकरण अभियान

काठमांडू, ११ भाद्र ।
मोहनविक्रम सिंह के नेकपा मसाल, मोहन वैद्य के क्रान्तिकारी नेकपा माओवादी और नेत्रविक्रम चन्द ‘विप्लव’ के नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के बीच पार्टी एकता के लिए विचार–विमर्श शुरु किया गया है । यह तीनों दल अपने को क्रान्तिकारी पार्टी बताते हैं । इसीलिए तीनों के बीच ध्रुवीकरण का बहस शुरु किया गया है । क्रान्तिकारी माओवादी स्रोत के अनुसार एक सप्ताह पहले मोहन वैद्य ने मोहन विक्रम के साथ पार्टी एकता के लिए प्रस्ताव किया था ।
उसके बाद जारी अनौपचारिक विचार–विमर्श के क्रम में मोहन वैद्य औ मोहन विक्रम दोनों नेता पार्टी एकता के लिए सहमत हुए हैं । उसके बाद दोनों ने विप्वल के साथ भी पार्टी एकता के लिए प्रस्ताव रखे थे । विप्लवका कहना है कि वैद्य उनके साथ पार्टी एकता करे और इधर वैद्य का कहना है कि विल्लव उनके साथ आए । इस तरह का विवाद कुछ समय से जारी है । लेकिन जब मोहन वैद के साथ भी पार्टी एकता के लिए बात आगे बढ़ा तो तीनों नेता पार्टी एकता के लिए सकारात्मक हो रहे हैं ।
बताया जाता है कि तीनों नेताओं ने साझा निष्कर्ष निकाला है– संसदवादी शक्ति ध्रूवीकृत हो रहे हैं और शक्तिशाली भी बन रहे हैं । इसीलिए क्रान्तिकारी शक्तियों के बीच भी ध्रवीकरण आवश्यक है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: