यात्रियों से मनमर्जी भाडा लेने वाले सवारी चालकों पर कार्यवाही ।

मालिनी मिश्र, काठमाण्डू, १७ अगस्त ।
यातायात के साधनों द्वारा सवारियों से ज्यादा किराया वसूला जा रहा है । काठमांडू से बाहर जाने व भीतर ही अपनी सुविधा देने वाले  लगभग, ८५ प्रतिशत साधनों द्वारा निर्धारित मूल्य से ज्यादा भाडा लिया जा रहा है ।
सरकार के द्वारा जांच पडताल के लिए भेजी गयी टोली के जांच के पश्चात् यह सूचना प्राप्त हुई है ।  अचानक की गयी जांच में २१ सवारियों के साधनों में से १७ नें निर्धारित भाडा से दुगना भाडा वसूला है । इसी क्रम में उन सवारी साधनों मे से कुछ को ५,००० रु. जुर्माना भी देना पडा है ।
image(1)
 सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि रोज ८० से ९० लाख तक, ठगी का काम हो रहा है । व यात्रियों को जितना भाडा बताया जा रहा है उतना देना ही पडता है । जनवरी माह में सरकार नें यात्रियों द्वारा दिये जाने वाले भाडे की दर को निर्धारित भी कर दिया था ।
काठमाण्डू में ही १३ रु. न्यूनतम व २४ रु. अधिकतम मूल्य है । पर ज्यादातर सवारी साधनों द्वारा १५ रु. से ही शुरुआत हो रही है । काठमांडू में ही चलने वाले टैक्सियों को भी मीटर में न चलने की आदत हो गयी है । मनमर्जी भाडा न मिलने पर यात्रियों को बैठाने के लिए भी तैयार न होने वाले यह टैक्सी चालकों के लिए अभी किसी भी  नियम का निर्धारण नहीं हुआ है ।
loading...