Sat. Sep 22nd, 2018

राजेन्द्र महतो की लडाइ निधि से नहीं बल्कि उनके मालिक से है : दयानन्द गोईत

 मनोज बनैता, सप्तरी, १८ मङ्सिर ।

सप्तरी बलान बिहुल गावपालिका के वर्तमान अध्यक्ष दयानन्द गोईत ने ये दावा किया है कि राजपा नेपाल के अध्यक्ष मण्डल के सदस्य राजेन्द्र महतो की लडाइ बिमलेन्द्र निधि से ना होकर उनके मालिक से है । मधेसी गठबंधन के एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुवे ये कहा कि खसवादियों की सबसे उर्वर भुमि जनकपुर रही है लेकिन अब वो अपने हाथ से निकल्ते देखकर बौखला सा गया है । उनके अनुसार निधि तो बस उस खसवादी चक्रव्युह का एक मोहरा है । नेता गोईत ने ये भी कहा है कि राजेन्द्र महतो का चुनावी सभा मे उपस्थित जनसागरको देखकर खसवादी सत्ता हिल सी गयी है । जनता अब ये जानने लगी है कि निधि जी खसवादियो के सामने निरीह है इसलिए ईसबार जनता राजेन्द्र महतो को ही ये भार सौपेगी । उनहोने ये भी कहा कि मधेश आन्दोलन मे निधि जी को इतना मजबुर कर दिया कि उन्होने मासुम मधेसी जनता उपर गोली दागने का हुक्म देना ही पडा । नेता गाेईत कहते है ये मजबुरी अाखिर कबतक? अब वाे समय अा गया है कि खसवादी सत्ता को उखाड फेके । नेता गाेईत सप्तरी मे रहे बलान बिहुल गावपालिका के नव निर्वाचित अध्यक्ष एवं संघीय समाजवादी फोरम के युवा नेता है ।
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of