राज्य विरुद्ध साँगठनिक अपराध करनेवाले सही मायने में कौन हैं, सीके या ओली ?

 

रोशन झा, फागुन २४ , सप्तरी

RANJAN-MEHATA
नेकपा ऐमाले नेता केपी ओली द्वारा मेची महाकाली जागरण अभियान के नामपर मुठभेड अभियान करा कर सप्तरी में मधेसियों का नरसंहार करवाया गया, काला झण्डा दिखाकर विरोध प्रदर्शन करनेवाले आम मधेसी जनता के उपर पुलिस बल प्रयोग कर सर और छाती में गोली दागने वाले केपी ओली अपने साथ ही दर्शक के रुप में भिजन्ते लाकर सप्तरी में कार्यक्रम कर रहे थे । राज्य विरुद्ध साँगठनिक अपराध करनेवाले केपी ओली और उनका संगठन है या शान्तिपूर्ण एवं अहिंसात्मक रुप मेंं मधेसियों को अपने इतिहास से परिचय करानेवाले डा. सीके राउत और उनका स्वतन्त्र मधेस गठबन्धन ?
जनता को उकसाकर गोली मारनेवाले ओली और उनके समर्थकों पर राज्य विपल्व का मुद्दा लगाना चाहिए कि सीके राउत और स्वराजीयों पर ?
अंग्रेजी औपनिवेशिक शासन में जिस तरह जनरल डायर ने भारतीय जनता का खून किया था, उसी तरह ओली और नेपाली दल ने सप्तरी राजबिराज मलेठ में मधेसी जनता का नरसंहार किया है ।
नेपाली शासक का मधेसियों के प्रति यह रंगभेदी क्रुर दमन ये बात स्पष्ट कर रही है कि वो मधेसी जनता को नेपाली नही मानते है, और यह बात कई बार ओली अपने भाषण में जता भी चुके हैं । क्या कसुर था उन मधेसियोंका जिन्हें कल नेपाल पुलिस ने गोलियो से भुंज दिया । कोई कसुर नही था कसुर सिर्फ इतना था कि वो मधेसी थे और काला झण्डा दिखाकर केपी ओली का विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, क्या यही लोकतंत्र है ,क्या मधेसीयोंके लिए कोई मानव अधिकार नहीं है, क्या मधेसीयों को गोली मारकर हत्या करना नेपाली कानून है ।

नेपाल प्रहरीद्वारा सप्तरी में हुए हिंसात्मक घटना का सत्य तथ्य छानविन कर दोषी उपर कडा कारवाही किया जाय । उक्त निन्दनीय दमन का घोर भर्त्सना के साथ ऐसे क्रियाकलाप को निरुत्साहित करनेके के लिए मानव अधिकार कर्मी, संचारकर्मी, अधिकारवादी राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय संस्था, लगायत देश(विदेश के सरोकारवाले निकाय से आग्रह के साथ नेपाल सरकार से दोषियों को कारवाही कर घायलों को तत्काल उचित स्वास्थ्य उपचार का व्यवस्था करवाया जाय और वरिगति प्राप्त करनेवाले को अविलम्व ससम्मान शहीद घोषणा किए जाने की अपील है ।

Loading...

Leave a Reply

1 Comment on "राज्य विरुद्ध साँगठनिक अपराध करनेवाले सही मायने में कौन हैं, सीके या ओली ?"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
Vinod Kumar Yadav
Guest

I am really turned into deep sorrow to read the news of state sponsored carnage of innocent and unarmed Madheshi demonstrators in Saptari district. It is deserve to be condemned universally. I really support your political cause and civil rights of indigenous Madheshi people in your homeland.

wpDiscuz