राशिफल

लेखकः पं.ज्यो. हरेकृष्ण झा -ज्योतिषाचार्य)
मेषः- मेष राशि वालों के लिए यह मास सामान्य तथा अच्छा ही कहा जा सकता है । शत्रु पर विजय, धन प्राप्ति तथा सुख प्राप्ति होगी, परन्तु व्यापार में उतार-चढÞाव तथा उत्तर्रार्ध में मानहानी और थोडÞी परेशानी भी उठानी पडÞ सकती है । इस राशि वालों के लिए शुभ तारीख- १, २, ५, ६, ७, ८, ९, १०, ११, १४, १५, १६, १९, २०, २४, २५, २६, २७, २९, २९ हैं ।
वृषः- यह माह आप के लिए अति फलदायक सिद्ध होगा, धन प्राप्ति के साथ-साथ नवकार्य की शुरुआत तथा कार्यसिद्धी का योग है । परन्तु अनुचित व्यय से बचें । तारीख ५, ६, १४, १५, १६, १९, २०, २४, २५ को छोडÞ कर अन्य शुभ फलदायक रहेगा ।
मिथुनः- आपको इस माह में साहस तथा बुद्धिमानी से काम लेना होगा । परेशानी तथा अधिक व्यय के योग को नकारा नहीं जा सकता है । इसलिए शनिबार को शिवपूजन और पीपल में जल अर्पण करें । ७, ८, १४, १८, २१, २२, २३, २६, २७ को छोडÞ कर अन्य तारीख आपके लिए शुभ होगा । र्
कर्कटः- यह माह कर्क राशि वालों के लिए मध्यम फलदायक रहेगा । मास की शुरुवात में थोडÞी चिन्ता तथा भय, स्त्रीकष्ट और व्यापार में असंतोष, परन्तु उत्तर्रार्ध में संतोषजनक सफलता मिलेगी । तारिख १, २, ९, १०, ११, १९, २०, २७, २५, २८, २९ को छोडÞ अन्य शुभ हैं ।
सिंहः- मास के पर्ूवाद्ध में भ्रमण तथा अधिक व्यय के साथ ही शत्रु भय को नकारा नहीं जा सकता, तथापि उत्तर्रार्ध में लाभ तथा पराक्रम में बढÞोत्तरी होगी । तारिख ३, ४, १२, १३, २१, २२, २६, २७, ३०, ३१ को छोडÞ अन्य शुभ होंगे ।
कन्याः- माह की शुरुवात में परेशानी, बन्धन का अनुभव होते हुए भी उत्तर्रार्ध में सभी प्रकार के सुख में वृद्धि, धनागमन, ज्ञानप्राप्ति तथा व्यापार में सफलता मिलेगी । तारीख १, २, ५, ६, १४, १६, २४, २५, २८, २९ को छोडÞ अन्य शुभ हैं ।
तुलाः- यह माह आप के लिए मध्यम फलदायक है । पर्ूवाद्ध में धन हानि तथा मानसिक कष्ट की सम्भावना है । तर्सथ मन को नियन्त्रण में रखें और उत्तर्रार्ध में सभी प्रकार के सुख में वृद्धि, धन प्राप्ति तथा कार्य सिद्ध का योग है, परन्तु स्वास्थ्य पर ध्यान रखें । तारीख ३, ४, ७, ८, १७, १८, २६, २७, ३०, ३१ को छोडÞ अन्य शुभ ।
वृश्चिकः- माह का पूवार्द्ध आपके लिए प्रतिकूल है, तर्सथ बोली तथा व्यवहार में सावधानी की आवश्यकता, उत्तर्रार्ध भी उतना ही अच्छा नहीं कहा जा सकता तथापि धन प्राप्ति होगी । आप र्सर्ूय की पूजा करें । तारिख १, २, ५, ६, ९, १०, ११, १९, २०, २७, २८, २९ को छोडÞ अन्य सामान्यतया अच्छा रहेगा ।
धनुः- आपके लिए यह मास उत्तम फलदायक है । पर्ूवाद्ध में नवकार्य, यश तथा पारिवारिक सुखों में वृद्धि तो उत्तर्रार्ध में सभी पक्षों से सफलता । परन्तु भय तथा मानहानी है । इसलिए बोली में र्सतर्कता रखें । आप के लिए हनुमान चालिसा का पाठ लाभकर रहेगा । तारीख २, ४, ७, ८, १२, १३, २१, २२, २३, ३०, ३१ को छोडÞ अन्य शुभ रहेगा ।
मकरः- मकर राशि वालों के लिए यह मास अति शुभदायक नहीं कहा जा सकता है- भय, पीडÞा तथा पारिवारिक कलह का सामना करना पडÞ सकता है । तथापि उत्तर्रार्ध मिश्रति फलदायक रहेगा । ५, ६, ९, १०, ११, १४, १५, १६, २७, २५ को छोडÞ अन्य शुभ हैं ।
कुम्भः- कुम्भ राशि वालों के लिए भी यह मास अनुकूल नहीं । धर्महानी, भय तथा अधिक व्यय जैसे कारणों से मानसिक चिन्ता बनी रहेगी । आप बृहस्पति की पूजा पाठ तथा जाप करें, मन्त्र ‘ç वृं वृहस्पतये नमः’ । तारीख ७, ८, १२, १३, १७, १८, २६, २७ को छोडÞ अन्य सामान्यतया शुभ रहेगा ।
मीनः-मीन राशि वालों के लिए यह माह मिश्रति फलदायक रहेगा । पर्ूवाद्ध में परेशानी तथापि विजय तथा सुख प्राप्ति होगी, परन्तु उत्तर्रार्ध प्रतिकूल ही समझें । तारीख १, २, ९, १०, ११, १४, १५, १६, १९, २०, २७, २८, २९ को छोडÞ बांकी शुभ ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz