राष्ट्रीय कार्ययोजना में सहयोग पहुँचाने के लिए आस्था परियोजना सञ्चालन में

राष्ट्रीय कार्ययोजना में सहयोग पहुँचाने के लिए आस्था परियोजना सञ्चालन में
दिलिप कुमार यादव
कपिलवस्तु, २३ फागुन

IMG_1144 
नेपाल सरकार के लैङ्गिक हिंसा अन्त तथा लैङ्गिक सशक्तिकरण राष्ट्रीय रणनीति तथा कार्ययोजना की रणनीति पूरा करने के लिए जिला के तीन गाबिस में आस्था परियोजना सञ्चालन किया जा रहा है । कपिलवस्तु के तौलिहवा में आयोजित आस्था परियोजना के परिचयात्मक गोष्ठी में गभर्नेनस फसिलेटी नेपाल के आर्थिक सहयोग में साथी कपिलवस्तु ने जिला के हर्दौना, सिहोखोर और सौराहा गाबिस में महिला की प्रगति में सामाजिक बाधा को सम्बोधन करने के लिए (आस्था) परियोजना सञ्चालन करने की जानकारी दी है । परियोजना के उद्धेश्य के बारे में जानकारी देते हसए परियोजना के संयोजक खग प्रसाद चापागाई ने लैङ्गिक सशक्तिकरण राष्ट्रिय रणनीति नम्बर २ में २ मा कानुनी प्रावधान के कार्यान्वयन में सहयोग पहुँचाने के लिए सेवा प्रदायक की क्षमता अभिवृद्धि करने , रणनीति नम्बर ३ में लैङ्गिक हिंसा विरुद्ध शून्य सहनशीलता की नीति अख्तियार करते हुए लैङ्गिक समता सम्बन्धी चेतनामुलक अभियान संचालन करने, नं ९ में लैङ्गिक हिंसा को सम्वोेधन करने हेतु साझेदारी सुदृढ करने, नं. १० में लैङ्गिक हिंसा न्यूनीकरण के लिए विद्यालय में आधारित विशेष कार्यक्रम कार्यान्वयन करने और रणनीति नम्बर १२ में लैङ्गिक हिंसा न्युन करने के लिए पुरुष तथा युवा वर्ग परिचालन करने के उद्धेश्य को सहयोग पहुँचाने के लिए ढाई बर्ष की अवधि तक परियोेजना सञ्चालन होने की बात कही ।
परियोजना के अन्र्तगत स्थानीय तह से केन्द्रीय तह तक के सरोकार वाले निकाय के साथ अभिमुखीकरण तथा अन्तक्रिया कार्यक्रम करना, केन्द्रीय तह में और जिला तह में कार्यक्रम को प्रभावकारी रुप में सञ्चालन करने के लिए सञ्चालन÷अनुगमन समिति गठन करना, लैङ्गिक हिंसा विरुद्ध विभिन्न सरोकारवाले निकाय के साथ समन्वय में विभिन्न सामुदायिक समूह की क्षमता अभिवृद्धि तथा सशक्तीकरण गर्ने र लैङ्गिक हिंसा सम्बोधनको लागि स्कूल तथा कलेजका विद्यार्थीलाई जनचेतना तथा सशक्तीकरण कार्यक्रम करने का कार्यक्रम सञ्चालन करना है । इसी तरह केन्द्रिय और जिला स्तरीय स्थानीय सञ्चारमाध्यम के समन्वय तथा सहकार्य में विभिन्न अभिमुखीकरण तथा छलफल कार्यक्रम, समुदाय स्तर में मादक पदार्थ तथा इससे समुदाय में पडने वाले नकारात्मक असर सम्बन्धी अन्तरक्रियात्मक छलफल कार्यक्रम तथा अनुसन्धानात्मक कार्यक्रम सञ्चालन, महिला हिंसाविरुद्ध के सम्बन्द्ध में विशेष दिनों में सरोकार वाले निकाय के संग समन्वय कर विभिन्न जनचेतना तथा वकालत कार्यक्रम, विभिन्न सुरक्षा निकाय के संग समन्वय कर सुरक्षा निकाय के प्रतिनिधि के लिए लैङ्गिक हिंसा सम्बन्धी विभिन्न अभिमुखीकरण कार्यक्रम करना, जिला से केन्द्रीय स्तर के सरोकार वाले निकाय तथा सेवा प्रदायक के बीच समन्वय और सहकार्य के लिए कार्यक्रम करना, आवश्यकता अनुसार गम्भीर प्रकार के लैङ्गिक हिंसा की घटना की पैरवी तथा पीड़ित के लिए अस्थाई सहयोग करने जैसे कार्यक्रम सञ्चालन में आएँगे । परिचयात्मक गोष्ठी में मन्तब्य देने वालों में से अधिकांश ने जिला के सम्पुर्ण सरोकारवाला ने साझेदारी कर लैगिंक हिंसा रोकने पहल करने की बात कही । इस अवसर में बोलते हुए सहायक प्रमुख जिला अधिकारी कृष्ण बहादुर खड्का ने हिंसा प्रति की बात को समुदायस्तर में स्पष्ट करने वाले कानुन कार्यान्वयन में सहजता आने पर विश्वास किया ।
जिला समन्वय समिती की उपाध्यक्ष माधुरी श्रेष्ठ की अध्यक्षता, निरज कर्ण का स्वागत और माया ज्ञवाली के सञ्चालन में सम्पन्न परिचयात्मक गोष्ठी में प्रहरी उपरिक्षक बिष्णु कुमार केसी, महिला बिकास की निरिक्षक सम्झना भण्डारी, जिला बाल कल्याण समिती के अध्यक्ष हरिराज शर्मा, बार एशोसियसन के जिला अध्यक्ष हुमनाथ पाण्डे, युवा समाजसेवी दिपक पाण्डे, सञ्चारिका समुह की जिला अध्यक्ष पार्वती पाण्डे, नेपाल पत्रकार महासंघ जिला उपाध्यक्ष किरणमान बज्राचार्य, गैसस महासंघ के जिला अध्यक्ष प्रवीण श्रीवास्तब ने मंतव्य दिया ।

 

 

 

Loading...
%d bloggers like this: