रिजवान कहते हैं : द्वन्द्व व्यवस्थापन से देश गृहयुद्ध में फँसेगा, प्रहरी द्वारा घर में घुसकर मारपीट

जितेन्द्र ठाकुर, विराटनगर , 20भाद्र |

birat-1संघीय समाजवादी फोरम नेपाल के केन्द्रिय सदस्य रिजवान अन्सारी ने कहा कि द्वन्द्व व्यवस्थापन नहीं होने पर देश गृहयुद्ध में जा सकता है । अगर विगत के समझौते के अनुसार संविधान नहीं बना तो देश द्वन्द्ध और गृहयुद्ध में फँसेगा । विराटनगर में संघिय समाजवादी फोरम नेपाल के द्वारा आयोजित पत्रकार सम्मेलन में पूर्व गृहराज्य मन्त्री रहे अन्सारी ने कहा,‘ मुलुक में चार दल बहुमत का दम्भ दिखाकर संविधान निर्माण में लगी है जिसकी वजह से देश में द्वन्द्ध की स्थिति है । राज्य मधेशी ,मुस्लिम , जनजाति तथा उत्पीडीत समुदाय राज्य के हरेक निकाय में अपनी उपस्थिति तथा समान अधिकार संस्थापित करने के लिए आन्दोलन के बाद राज्य द्वारा हुए सम्झौता को संविधान में बहुमत के दम्भ शामिल नहीं कर के देश द्वन्द्व के उत्कर्ष में है और गृहयुद्ध की चपेट में जा सकता ही । चारदल के दम्भ के कारण आज देश की ये हालत हो रही है । देश में रक्तपात हो रहा है । शान्तिपूर्ण आन्दोलन में दमन कर के रक्तपात सरकार करा रही है । अधिकार की लडाई है इस्े कमजोर करने या समझने की गलती सरकार को नही करना चाहिए । अगर सरकार इसी तरह निरंकुश होकर आगे बढेगी तो देश हिंसा की राह पर बढ जाएगा । जनता की चाहना विपरीत काम होने के कारण और उनके अधिकार को नही देने के कारण आन्दोलन की बाध्यता आ गई है । मानवअधिकार विपरीत सरकार काम कर रही है काठमान्डौ में भीड हटाने के लिए पानी का फव्वारा छोडा जाता है और मधेश में गोली चलाई जाती है । जनता की हमेशा जीत हुई है । हम लोग वार्ता विरोधी नहीं हैं किन्तु वार्ता का सही वाता वरण तैयार करना होगा नेता अंसारी ने कहा ।

सरकार को आतंक बन्द करना होगा, संविधानसभा स्थगित करना होगा, आन्दोलन में मृत्यु होने वाले को शहीद घोषणा करना होगा और क्षतिपूर्ति तथा घ ायलों की निःशुल्क उपचार करना होगा । अगर यह सब नहीं माना जाएगा तो संघर्ष यूँ ही जारी रहेगा ।

प्रहरी द्वारा घर में घुसकर मारपीट

जितेन्द्र ठाकुर

विराटनगर ः संयुक्त लोकतान्त्रिक मधेशी मोर्चा द्वारा मधेश बन्द के क्रम में सुरक्षार्थ तैनात प्रहरी ने घर में जा जा कर सर्वसाधारण के साथ मारपीट किया है । टायर जलाने बाले के साथ झडप में प्रहरी ने घर घर में जाकर मारपीट किया है । बिहिवार घर नजदीक मसजिद से नमाज पढकर लौटते हुए विराटनगर ७ निवासी ३५ बर्षीय अहजद अली को प्रहरी ने निर्घात मारा है । प्रहरी जवरदस्ती गेट खुलाते हुए अली के साथ मार पीट की है । उनके सारे शरीर में नीला दाग हो गया है । घर में महिलाएँ थीं । बोलने का अवसर भी अली को नहीं दिया गया और बेहोश होने तक मारा । आतंक फैलाने के लिए यह सब किया जा रहा है । अली एक साधारण कपडा व्यवसायी हैं । झड़प के क्रम में प्रहरी ने चुन चुनकर सर्वसाधारण के साथ मार पीट किया है और मानवअधिकार का उल्ल्ंघन किया है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: