रेडक्रस सोसाइटी कालकोट द्वारा जिला विपद् प्रतिकार्य समूह(DDRT) तालीम

नेपालगन्ज,(बाके) पवन जायसवाल, २०७३ बैशाख १० गते ।
नेपाल रेडक्रस सोसाइटी कालकोट जिला शाखा के आयोजन में ६ दिन की जिला विपद् प्रतिकार्य समूह(DDRT) तालीम बुधवार सम्पन्न हुआ है ।
नेपाल रेडक्रस सोसाइटी और डेनिस रेडक्रस के संयुक्त साझेदारी में कालीकोट जिला में संचालित आपत्कालीन पूर्व तयारी तथा प्रतिकार्य कार्यक्रम के सहयोग में तालीम संचालन हुई थी ।

1
कालीकोट के प्रमुख जिला अधिकारी प्रदिप श्रेष्ठ ने जिला में प्रतिकार्य क्षमता में बृद्धि करने के लिये रेडक्रस ने महत्वपूर्ण सहयोग किया बताया ।
नेपाल रेडक्रस सोसाइटी कालीकोट जिला शाखा के सभापति बल प्रसाद संज्याल ने समुदाय से लेकर जिला स्तर में होनवाली सम्भावित विपद् के समय में तत्काल प्रभावित समुदाय की सर्वेक्षण और राहत÷प्रतिकार्य के लिये रेडक्रस स्वयंसेवक परिचालन होती बताया ।
नेपाल रेडक्रस सोसाइटी आपत्कालीन पूर्वतयारी तथा प्रतिकार्य कार्यक्रम के क्षेत्रीय कार्यक्रम संयोजक दोलखबहादुर डा“गी ने कार्यक्रम मध्य पश्चिमाञ्चल के १५ जिला में संचालन हो रही है बताते हुये रेडक्रस जिला शाखाए“ की क्षमता विकास में विशेष सहयोग पहु“चा रही है जानकारी दिया ।
तालीम कोर्ष कोर्डिनेटर प्रहलाद विश्वकर्मा ने दिया जानकारी अनुसार प्रशिक्षण में विपद् शब्दावली, प्रतिकार्य प्रणाली, डि.डि.आर.टी.स्वयंसेवक परिचालन प्रक्रिया, सुरक्षित पह“ुच, समूह निर्माण, समन्वय, आपत्कालीन कार्य संचालन केन्द्र, प्रतिकार्य किट, संरक्षण, स्पेयर, प्रारम्भिक तथा विस्तृत सर्वेक्षण, गोदाम की व्यवस्थापन और राहत वितरण प्रक्रिया लगायत की सैद्धान्तिक तथा व्यवहारिक अभ्यास समेत कराया गया था ।

2
तालीम के सहभागियों ने प्रशिक्षण के दौरान अस्थाई आवास और राहत वितरण की कृत्रिम अभ्यास करने से कालीकोट के प्रमुख जिला अधिकारी प्रदिपश्रेष्ठ, प्रहरी नायब उपरिक्षक किसन सिंह बुढा, नेपाल रेडक्रस सोसाइटी कालीकोट शाखा के भूतपूर्व समिति कटक शाही लगायत कार्य समिति के सदस्यों ने अभिरुचीपूर्वक अवलोकन किया था । तालीम संचालन के क्रम में नेपाल रेडक्रस सोसाइटी आपत्कालीन पूर्वतयारी तथा प्रतिकार्य कार्यक्रम के क्षेत्रीय संयोजक दोलख डागी, तालिमअधिकृत शेखर रेग्मी और मनोज थोकर ने अनुगमन किया था ।

 

 

8
तालीम में कालीकोट जिला के विपद् प्रभावित मुम्रा और सिपखाना गाविस के ४ महिला और १८ पुरुष करके २२ लोगों की सहभागिता रही थी सहजकर्ता तालीम कोर्ष संयोजक प्रहलाद विश्वकर्मा, तपेन्द्र शाही, विनायक पौडेल और विनोद डागी रहे थे ।

56

loading...