रेप केस: डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को जज जगदीप सिंह ने सजा सुनाई

*रोहतक.हरियाणा {मधुरेश प्रियदर्शी}*– डेरा सच्चा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई की विशेष अदालत ने आज दो साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में 10 साल जेल की सजा सुनाई। सजा सुनाने के लिए रोहतक की सुनारिया जेल में दोपहर बाद विशेष कोर्ट लगाई गई। जहां जज जगदीप सिंह ने सजा सुनाई।

सुनवाई के दौरान राम रहीम रोने लगा। उसने जज से कहा, आप मुझे माफ कर दें। जिरह के दौरान वह दोनों वकीलों की दलीलें सुनता रहा।
मोर्चा संभाले जवानों को संदिग्ध गतिविधि पर असामाजिक तत्वों को गोली मारने के निर्देश दिए गए थे। सुबह से ही पूरा रोहतक और सिरसा सेना की निगरानी में था। राम रहीम को 25 अगस्त को दोषी करार दिया गया था। सजा सुनाने के लिए रोहतक की सुनारिया जेल में विशेष कोर्ट लगाई गई थी।

यह पहली बार हुआ जब हरियाणा के किसी जेल परिसर में अदालत लगाकर सजा सुनाई गयी। 15 साल पुराने इस मामले में सब्र और हिंसा के बाद पीडि़त साध्वियों को आज न्याय मिला है।
सीबीआइ के विशेष जज जगदीप सिंह हेलीकॉप्टर के जरिए रोहतक स्थित सुनारिया जेल पहुंचे। उन्हें जेड प्लस सुरक्षा दी गई है। सजा सुनाने के बाद जगदीप सिंह को तुरंत कड़ी सुरक्षा में वापस ले जाया गया। सजा के बाद होने वाली प्रतिक्रिया से निपटने के लिए हरियाणा सरकार ने कड़े बंदोबस्त किए हैं। पुलिस महानिदेशक बीएस संधू के अनुसार अर्धसैनिक बलों की 26 कंपनियां तथा पुलिस तैनात की जा चुकी है। सेना की कई कंपनियों को विकल्प के तौर पर रखा गया है। यदि कोई उपद्रव होता है तो देखते ही गोली मारने के आदेश दिए जा चुके हैं।
हरियाणा के एडीजीपी कानून मोहम्मद अकील ने कहा कि अभी तक रोहतक में किसी भी डेरा प्रेमी के बाहर कहीं सड़कों पर होने की कोई खबर नहीं है। शांति से सजा सुनाने के बंदोबस्त किए गए हैं। अगर फिर भी कोई सामने आया तो किसी भी कार्रवाई से नहीं हिचकेंगे। आइजी नवदीप सिंह विर्क ने कहा कि उपद्रवियों से निपटने के लिए गोली तक चलाई जा सकती है।
सीबीआइ कोर्ट ने राम रहीम को भारतीय दंड संहिता (आइपीसी) की तीन धाराओं 376 (दुष्कर्म), 506 (डराने-धमकाने) और 509 (महिला की इज्जत से खिलवाड़) के तहत दोषी ठहराया है। वहीं, फैसले को लेकर पंजाब-हरियाणा हाई अलर्ट पर हैं। पंचकूला में हुई आगजनी से सबक लेते हुए सरकार ने रोहतक जेल के बाहर पांच स्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया है। पुलिस और सुरक्षा बलों को मौके पर ही तुरंत एक्शन लेने व उपद्रवियों को गोली मारने के आदेश दिए गए हैं। अर्धसैनिक बलों की 23 कंपनियां तैनात की गई हैं। सेना स्टैंड बाई पर रहेगी।
इस बीच डेरा प्रमुख को सजा के मद्देनजर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के निवास और हरियाणा सचिवालय की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इन दोनों स्थानों को अर्धसैनिक बलों के हवाले कर दिया गया है। सभी मार्गों पर नाकेबंदी कर दी गई है, ताकि कोई सीएम निवास पर पहुंच न सकें।
पंजाब में भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। पंजाब के चार जिलों में कर्फ्यू लगाया गया है। इनमें बरनाला, मानसा, बठिंडा व पटियाला शामिल हैं। पटियाला के सिर्फ समाना व पातड़ां में ही कर्फ्यू है। हरियाणा में सिरसा के अलावा अन्य सभी जगहों से कर्फ्यू हटा दिया गया है।
तीन साल से कम सजा होने पर सीबीआइ जज को जमानत पर छोडऩे का अधिकार है। इससे अधिक सजा की स्थिति में ऑर्डर मिलते ही दोषी जमानत के लिए हाईकोर्ट में आवेदन कर सकता है। चूंकि दुष्कर्म में न्यूनतम सात साल की सजा निर्धारित है, इसलिए राम रहीम के पास जमानत के लिए हाईकोर्ट में अपील करने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं है। हाईकोर्ट के फैसले तक उसे जेल में ही रहना होगा।
पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के निर्देश के बाद डेरा सच्चा सौदा व राम रहीम के निजी बैंक खातों को सीज कर दिया गया है।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: