लोकमान प्रकरण के म्याद पर्ची पत्रिका में प्रकाशित करना एक मात्र विकल्प

काठमांडू, कार्तिक २ ।
लोकमानसिंह कार्की के रिश्तेदारों के अवरोध करने से आज भी उन के घर पर म्याद तामेल के लिए पहुँचे सर्वोच्च अदालत के कर्मचारी वापल लौट आएं हैं । अब अदालत के पास दो विकल्प होने की अडकलबाजियां लगाइ जा रही है ।

lokmansingh karki hindi

लोकमान सिंह कार्की

अदालत ने जानकारी दी फिर से सुरक्षाकर्मी के सहयोग से पुनः कार्की के घर पर म्याद पर्चि साटने का कार्य करेगी । अगर फिर से अवरोध हुआ तो पत्रिका में प्रकाशित करबाने का विकल्प नही हैं अदालत ने मिडिया को जानकारी दी । पत्रिका में प्रकाशित करबाने से म्याद चिपकाने के बराबर ही माना जाता है ।
रिट निवेदनकर्ता अधिवक्ता ओम प्रकाश अर्याल ने बताया अभी राज्य के विभिन्न निकाय में लोकमान प्रवृत्ति हावी होने से ये सारा समस्या दिख रहा है ।
यद्यपि अधिवक्ता अर्याल ने कार्की के नियुक्ति गैरकानुनी बताते हुए सर्वोच्च अदालत में रिट दाखिला करबाया था ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz