विजय गच्छदार नेपाली कांग्रेस के नयां महामन्त्री ? निधि बन रहे हैं बाधक !


काठमांडू, २७ आश्वीन । वैसे तो कुछ दिन पहले ही नेपाली कांग्रेस और लोकतान्त्रिक फोरम के बीच पार्टी एकता की जाने कि समाचार बाहर आई थी, लेकिन अभी तक नहीं हो रही है । बताया जाता है कि फोरम लोकतान्त्रिक के अध्यक्ष विजय कुमार गच्छदार और कांग्रेस सभापति शेरबहादुर देउवा के बीच पार्टी एकता के लिए सहमति बन चुकी है । और देउवा गच्छदार को महामन्त्री पद देने के लिए तैयार हो चुके हैं । लेकिन समाचार स्रोतका कहना है कि गच्छदार के लिए कांग्रेस नेता विमलेन्द्र निधि ‘भिलेन’ के रुप में दिखाई दे रहे हैं ।

गच्छदार निकट कुछ नेताको कहना है कि देउवा ने कांग्रेस पदाधिकारी में गच्छदार को ‘भाइटल रोल’ में स्वीकार किया है । स्मरणीय बात तो यह भी है कि सभापति देउवा ने महाधिवेशन के बाद अभी तक पार्टी में किसी को भी पदाधिकारी नियुक्त नहीं किया है । कुछ लोगों को कहना है कि गच्छदार को नयां महामन्त्री बनाकर ही देउवा पदाकारी मनोनयन संबन्धी काम को अगे बढ़ाने वाले हैं । लेकिन इसमें कांग्रेस नेता निधि ने विरोध किया है । उनका कहना है कि अभी गच्छदार को महामन्त्री पद देना उपयुक्त नहीं है । इसीलिए देउवा आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं । बताया जाता है कि चुनाव से पहले ही पार्टी एकता के लिए देउवा और गच्छदार सकारात्मक हैं ।
वैसे तो फोरम लोकतान्त्रिक में भी एकता विरोधी जनमत हैं । लेकिन इसकी प्रवाह गच्छदार को नहीं है । पार्टी को थ्रेसहोल्ड से बचाने के लिए एकता मजबुरी भी बन रही है । इसीलिए शुक्रबार फोरम अध्यक्ष गच्छदार ने बिराटनगर पहुँच कर कहा है– ‘लोकतान्त्रिक ध्रुविकरण आज की आवश्यकता है, इसीलिए फोरम लोकतान्त्रिक कांग्रेस में विलय हो रहा है ।’ लेकिन कब ? इसका जबाव उन्होंने नहीं दिया ।
समाचार स्रोत का कहना है कि फोरम अध्यक्ष गच्छदार, देउवा से पार्टी उप–सभापति के लिए भी बार्गेनिङ कर रहे हैं । साथ में संसदीय दल के उप–नेता की मांग भी गच्छदार ने किया है । लेकिन देउवा इसके लिए तैयार नहीं हैं । महामन्त्री तक बनाने के लिए देउवा तैयार हुए हैं, लेकिन इसमें दूसरे नेता निधि तैयार नहीं है । इसी तरह का चक्कर में अभी कांग्रेस और फोरम लोकतान्त्रिक का एकीकरण उलझ हुआ है
Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz