विद्या बालन को बेस्ट ऐक्ट्रेस का नैशनल अवॉर्ड

नई दिल्ली।।  फिल्म डर्टी पिक्चर में शानदार ऐक्टिंग के लिए के लिए ऐक्ट्रेस विद्या बालन को सर्वश्रेष्ठ ऐक्ट्रेस का नैशनल अवॉर्ड मिला है। मराठी फिल्म देऊल के लिए गिरीश कुलकर्णी को बेस्ट ऐक्टर का अवॉर्ड दिया गया है। इस बार कई अहम अवॉर्ड मराठी फिल्मों के हिस्से गए।

59वें नैशनल फिल्म अवॉर्ड का एलान बुधवार को कर दिया गया। बी ग्रेड फिल्मों की ऐक्ट्रेस सिल्क स्मिता के जीवन पर बनी फिल्म ‘डर्टी पिक्चर’ में बेहतरीन ऐक्टिंग के लिए विद्या को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री चुना गया।

मराठी फिल्म ‘देऊल’ और ब्यारी भाषा की फिल्म ‘ब्यारी’ को संयुक्त रूप से बेस्ट फिल्म का नैशनल अवॉर्ड मिला। ‘देऊल’ के लिए गिरीश कुलकर्णी को बेस्ट ऐक्टर भी चुना गया। बेस्ट डाइरेक्टर का अवॉर्ड पंजाबी फिल्म ‘अन्हे घोड़े दा दान’ के लिए गुरविंदर सिंह को दिया जाएगा। उन्हें पुरस्कार के तौर पर स्वर्ण कमल और ढाई लाख रुपये मिलेंगे।

फीचर फिल्म जूरी की अध्यक्ष मशहूर ऐक्ट्रेस रोहिणी हटंगड़ी थीं जबकि गैर फीचर फिल्मों की जूरी के अध्यक्ष रमेश शर्मा और सिनेमा पर सर्वश्रेष्ठ लेखन के लिए जूरी की अध्यक्ष विजया मूले थीं। बच्चों पर बनी सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार ‘चिल्लर पार्टी’ को दिया गया। इस फिल्म में काम करने वाले सभी 10 बच्चों और ‘स्टेनली का डिब्बा’ में बेहतरीन ऐक्टिंग करने वाले मास्टर पार्थो गुप्ते को सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार चुना गया। ‘चिल्लर पार्टी’ के लिए विकास बहल और मनीष तिवारी को बेस्ट स्क्रीनप्ले (मौलिक) का पुरस्कार दिया गया।

हिंदी फिल्मों को इस साल ज्यादा पुरस्कार नहीं मिल सके। जूरी की अध्यक्ष हटंगडी ने कहा कि 38 हिंदी फिल्मों से एंट्रीज मिली थीं लेकिन क्षेत्रीय सिनेमा का स्तर बेहतरीन रहा। जोया अख्तर की फिल्म ‘जिंदगी ना मिलेगी दोबारा ‘ को 2 अवॉर्ड मिले। सर्वश्रेष्ठ लोकेशन साउंड रिकॉर्डिंग का पुरस्कार इस फिल्म के लिए बेलोन फोंसेका और बोस्को सेजार को अवॉर्ड मिला। ‘सेनोरिटा’ पर किए गए डांस के लिए फिल्म को बेस्ट कोरियॉग्रफी का पुरस्कार मिला।

‘  डर्टी पिक्चर’ को बेस्ट कॉस्ट्यूम और मेकअप के भी पुरस्कार मिले। बेस्ट कॉस्ट्यूम के लिए निहारिका खान ( डर्टी पिक्चर) और नीता लुल्ला (मराठी फिल्म बालगंधर्व) को पुरस्कार मिला है। वहीं इन्हीं दोनों फिल्मों में मेकअप के लिए विक्रम गायकवाड़ ने पुरस्कार जीता।

ओनिर की फिल्म ‘आई एम’ को सर्वश्रेष्ठ हिन्दी फिल्म चुना गया। इस फिल्म को सर्वश्रेष्ठ गीतकार (अमिताभ भट्टाचार्य) का पुरस्कार भी मिला। शाहरुख खान की बहुचर्चित फिल्म ‘रा. वन  ‘  के लिए हैरी हिंगोरानी और केतन यादव को सर्वश्रेष्ठ स्पेशल इफेक्ट्स का अवॉर्ड मिला। किसी निर्देशक की सर्वश्रेष्ठ पहली फिल्म का इंदिरा गांधी अवॉर्ड तमिल फिल्म ‘अरण्याकंदम’ के लिए कुमारराजा त्यागराजा को मिला।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz