विप्लव माओवादी का चंदा आतंक, त्रसित व्यापारी

काठमाण्डू, २३ साउन
नेत्रविक्रम चन्द विप्लव नेतृत्व के नेकपा माओवादी ने राजधानी लगायत देश भर चंदा आतंक मचाए हुए है । ईन के चंदा आतंक से व्यापारी–व्यवसायिक संस्थान त्रसित बना हुआ हैं ।

biplav-1

एक पीडित व्यवसायी ने कहा– पार्टी चलाने के लिए आर्थिक सहयोग चाहिये कहते हुए पहले–पहले फोन मार्फत पैसा मागते थें, लेकिन अब तो लिखित पत्र ही आने लगे हैं ।
श्रोत के मुताविक पार्टी महासचिव चन्द ने व्यक्ति देख कर ५० लाख रुपया तक चन्दा उठाने को कार्यकर्ताओं को निर्देशन दिया है । विप्लव माोवादी के चंदा आतंक से औद्योगिक घराना, बैंक तथा वित्तिय संस्था, ट्राभल एजेन्सी के साथ छोटे व्यापारी भी डरे हुए हैं ।
उद्योगी व्यापारियों के अनुसार अन्य पार्टियां भी चन्दा मागती है, लेकिन विप्लव माओवादी ने तो आतंक ही मचाया हुआ है । उद्योगियों के अनुसार अभी टेलिफोेन तथा पत्र मार्फत चन्दा मागने का काम ये लोग कर रहे हैं ।
विप्लव माओवादी ने चन्दा की माग करते हुए व्यापारी को लिखे एक पत्र बाह्खरी आनलाइन ने सार्वजनिक किया है । साउन १९ गते के उक्त पत्र में पार्टी के महासचिव विप्लव ने हस्ताक्षर किया है ।
पत्र का आशय है–राष्ट्रीय राजनीति में विदेशी हस्तक्षेप बढ रहा है तथा सरकार नेपाल का गाँस, बास तथा कपास अर्थात रोटी, कपडा और मकान का व्यवस्था न कर व्यक्ति विशेष के हित में चल रही है, इसलिए नेपाली जनता का अधिकार स्थापित करने के लिए क्रान्ति आवश्यक है । इस पत्र में पार्टी संचालन के लिए चन्दा मागा गया है ।
पुलिस का कहना है अभी तक चंदा मागा गया है कहकर उजुरी नहीं आई है । उजुरी आने पर कानुन अनुसार पुलिस कारवाही जरुर करेगी ।

loading...