विरगंज मे जलाया गया संविधान, साम में ब्लैक आउट

धनजिव मिश्रा,वीरगंज ३ गते आश्विन । २०७२  आश्विन ३ गते संविधान जारी हुआ था लेकिन आज एक साल होने के बाबजुद भी संविधान कार्यान्वयन नहीं हो पाया है बल्कि कई ज्यादा संख्या मे आलोचना हो चुकी है यहाँ तक की संविधान कार्यान्वयन करने के लिए जिस सरकार का गठन हुआ है उसी सरकार मे सहभागी दल ने भी  संविधान को अपूर्ण बताते है । संविधान दिवसके अवसर पर एतिहासीक बनाने के लिए देश मे राष्ट्रीय छुट्टी भी दी गई है और कई कार्यक्रम भी तय किया  है लेकिन  मधेश के जिल्लो मे कुछ खास प्रभाव नहीं पडा है ।
मधेश मे कार्यरत तराई मधेश राष्ट्रीय अभियान सहित ९ मधेशी दल के तर्फ से वीरगंज स्थित  महावीर स्थान मन्दिर चौक मे नेपाल के संविधान २०७२ का प्रति आज सुबह मे ही जलाया  है ।

bir
संयुक्त लोकतान्त्रिक मधेशी मोर्चा के संयोजक प्रदीप यादव ने बताए की आज विरगंज मे संयुक्त लोकतान्त्रिक मधेशी मोर्चा ने भी आंदोलन के बिभिन्न समय का फोटो को प्रदर्शन किया है ।
संविधानके बिरोध स्वरुप आज संयुक्त रूप से सम्पूर्ण मधेशमे साम ७:३० से ८:०० तक  ब्लैक आउट मनाने का निर्णय हुई है जिसका तैयारी जोरतोर से चलरही है।
तराई मधेश राष्ट्रिय अभियानका केन्द्रीय सदस्य शिपु तिवारी बताऐ की संविधान जलाते समय त.म.रा.अभियानके जिल्ला अध्यक्ष प्रमोद सिंह, सदस्य मुन्ना सोनि, प्रमोद शुक्ला, संजय सराफ, चन्देश्वर साह, नविन प्रकाश, पुष्पा पाण्डेय, मधेश आन्दोलनकारी समितिका जिल्ला सचिव जलेश्वर सर्राफ, नेपाल समाजवादी पार्टी (लोहियावादी) का नन्दन यादव, प्रमोद कुमार, सच्चितानन्द दुवे,संदीप साह, मधेश तराई फोरम पार्टीका विजय यादव, नेपाल सदभावना पार्टी (गजेन्द्रवादी) का बिनय चौरसिया लगायतके उपस्थिति रहा था ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: