विवाद में घिरी फोरम लोकतान्त्रिक

रत्नेश्वरकुमार झा : जलेश्वर । महोत्तरी जिला मधेशी जनअधिकार फोरम नेपाल लोकतान्त्रिक के दिपूकुमार साह को विं.सं.२०६९ में जिला अध्यक्ष बनने के क्रम में काफी मेहनत करनी पडÞी थी। क्योंकि उसी समय शरत सिंह भण्डारी ने इस पार्टर्ीीो छोडÞकर नयी पार्टर्ीीनायी थी। और उस समय उस पार्टर्ीीे अध्यक्ष मोजिम राइन को विजय गच्छदार के निर्देशन पर हटाकर दिपूकुमार साहको अध्यक्ष बनाया गया था। अध्यक्ष बनने पर साह ने काफी चुनौतियों का सामना करके नये सिरे से सम्पर्ूण्ा जिला में कार्य समिति का गठन किया। उस समय पार्टर्ीीें काफी जोश खरोस दिखाई देता था। वैसे तो साह पहले ही कई संघ-संस्था के अध्यक्ष बन चुके थे। पिछले साल कार्यवाहक अध्यक्ष के रुप में नेपाल के ऐतिहासिक २३ दिवसीय आन्दोलन के मार्फ उन्होंने जलेश्वरवासियों को नयी उपलब्धि दी थी। जिसके कारण वे हमेशा चर्चा में रहते थे।
लेकिन विगत दो तीन महिनों से अपनी ही पार्टर्ीीें मतभेद की वजह से अध्यक्ष पद का विवाद चरम सीमा पर है। पार्टर्ीीे उपाध्यक्ष पद पर रहे सुरेश साह एक अलग कार्यालय खोल कर पार्टर्ीीार्यालय संचालन कर रहे हैं। इधर पार्टर्ीीे केन्द्रीय सचिव रवीन्द्र ठाकुर एवम् केन्द्रीय निरीक्षण तथा अनुगमन टोली के सदस्य द्वय हरिबाबु चौधरी एवं उर्मिला महतो और विद्यार्थी फोरम के उपाध्यक्ष कपिलेश्वर यादव की उपस्थिति में दिपूकुमार साह को पार्टर्ीीे अध्यक्ष के रूप में निरन्तरता देते हुए पार्टर्ीीा सम्पर्ूण्ा काम करने-करानेका निर्देशन दिया है। इसके वाद केन्द्रीय सचिव रवीन्द्र ठाकुर की उपस्थिति में पार्टर्ीीार्यालय में पत्रकार सम्मेलन करके इसकी पुष्टि भी की गई थी। इस तरह एक जिला में दो जिला कार्यालय सञ्चालन हो रहा है। इस समस्या का समाधान पार्टर्ीीध्यक्ष विजयकुमार गच्छेदार की मध्यस्थता में ही हो सकता है, ऐसा लोगों का मानना है। वैसे चुनाव भी तो नजदीक आ रहा है।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: