वीरगन्ज मे रेडियो एफ.एम से प्रसारण पर अन्तरकृया

mail.google.comवीरगन्ज,१६ अप्रील,नारद तिवारी।
एफ.एम.रेडियो मे प्रसारण होनेवाला विज्ञापन से आम जनता पर प्रत्यक्ष असर होने के कारण  संवेदनसिल होकर विज्ञापन प्रसारण होना पडा । यह धारणा आज वीरगन्ज मे आयोजित एक कार्यक्रम मे सहभागीयो ने व्यक्त किया है ।  हेल्पिङ ह्याण्ड्स से  वीरगन्ज को होटल मकालु मे आयोजना की गइ रेडियो एफ.एम से प्रसारण हो रहे स्वास्थ्य सम्बन्धि प्रचार प्रसार और पत्रकार की भुमिका विषयक अन्तरकृया कार्यक्रम मे सहभागीयो ने  ऐसा विचार व्यक्त किया है । एफ एम रेडियो का  पहुँच गाव गाव तक होने के कारण इससे प्रसारण हो रहे कोइ भी समाचार या व्यापारिक सन्देश अर्थात विगापनसे श्रोताओं के मनोविज्ञान मे प्रत्यक्ष प्रभाव होने के कारण ठगनेवाली विज्ञापन प्रसारण न करना ही उचित होने कि बात पर वुद्धिजिवियों का जाड था । कार्यक्रम को सम्बोधन करते हुए  प्रेस काउन्सिल के सदस्य चन्द्रकिसोर झा ने कहा कि  सामाजिक दायित्व निर्वाह करनेवाला रेडियो एफ.एम से अपना  प्रसारण सामाग्री पर ध्यान देना सचांर गृह और उसकि सम्पादकिय मन्डल का दायीत्व है   । और समाजको किसी भी प्रकार की हानी होने वाला सन्देश रेडियो मे बजाना अनुचित है ,उसमे अबिलम्ब सुधार होना चाहिए ।
पत्रकार महासंघ के केन्द्रीय सदस्य एवं भोजपुरीया एफ.एम के सन्चालक महेस दासने रेडियो सन्चालन का प्रमुख आयश्रोत विज्ञापन ही होने की बात पर जोर देते हुए कहा कि अस्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा के चलते रेडियो सचारंगृह से विज्ञपन मे कुछ विकृतिया प्रवेश की है जिसे न्युनिकरण कि आवश्यकता पर जोरदेना चहिए ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: