शरद यादव की जदयू से हो सकती है छुट्टी !


*पटना {मधुरेश प्रियदर्शी}*–जनता दल युनाइटेड के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व केन्द्रीय मंत्री शरद यादव की उनकी अपनी ही पार्टी से छुट्टी हो सकती है। बिहार के राजनैतिक पंडित इसकी आशंका व्यक्त कर रहे हैं। महागठबंधन से जदयू के अलग होने के बाद आज पहली बार शरद यादव पटना पहुंचे। पटना हवाई अड्डे पर शरद ने जो तेवर दिखाया है उससे यह स्पष्ट हो रहा है कि वे जदयू में अब ज्यादा दिन के मेहमान नहीं हैं। आज से इसकी प्रबल संभावना बन गयी है कि जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सीएम नीतीश कुमार वरिष्ठ नेता शरद यादव को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा सकते हैं। यादव नीतीश के भाजपा के साथ हाथ मिला लेने के बाद से नाराज बताये जा रहे हैं। यादव को मनाने के प्रयास जदयू नेताओं के अलावा भाजपा के भी वरिष्ठ नेताओं ने किये थे, लेकिन वे नहीं माने हैं।

बताया जा रहा है कि शरद यादव के ही कहने पर गुजरात के जदयू विधायक ने कांग्रेस नेता अहमद पटेल को राज्यसभा चुनाव में वोट दिया था। जदयू का वोट निर्णायक साबित हुआ और भाजपा प्रत्याशी की हार हो गयी। नीतीश ने गुजरात प्रकरण के चलते ही पार्टी महासचिव और शरद यादव के करीबी नेता अरुण श्रीवास्तव को पार्टी से निकाल दिया। यादव ने अहमद पटेल की जीत के बाद उन्हें ट्वीट कर बधाई भी दी।

शरद यादव आज से बिहार के दौरे पर हैं और वह लोगों से मिलने के लिए एक यात्रा पर निकलने वाले हैं। नीतीश कुमार का मानना है कि पार्टी नेताओं को कार्यक्रम तय करने से पहले पार्टी से मशविरा करना चाहिए। ऐसे में शरद यादव को पार्टी अनुशासन भंग करने के नाम पर पार्टी से निकाले जाने की संभावना बढ़ गयी है।

यादव ने दिल्ली में मीडिया से बातचीत में कहा कि महागठबंधन को जो जनादेश मिला था उसके साथ विश्वासघात किया गया है इसलिए मैं लोगों के बीच जाकर उनकी राय जानूंगा। उन्होंने कहा कि मैंने भी चुनाव में जगह-जगह घूम कर महागठबंधन के लिए वोट मांगे थे, मैं वोट को ईमान मानता हूँ और उसके साथ विश्वासघात नहीं किया जाना चाहिए। अब देखना यह है कि बिहार में जदयू के कौन-कौन से नेता शरद यादव के सुर में सुर मिलाते हैं। राजनैतिक प्रेक्षकों की निगाहे अब शरद यादव की यात्रा एवं नीतीश कुमार द्वारा उनके विरुद्ध की जाने वाली कार्रवाई की ओर लगी है।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: