मुंबई। जानी-मानी अभिनेत्री श्रीदेवी अपनी अंतिम यात्रा पर निकल पड़ी हैं। फूलों से सजी ट्रक में परिवार के साथ उनकी यात्रा मुंबई के लोखंडवाला से शुरू हुई है और विले पार्ले तक जायेगी। यात्रा जुहू- विले पार्ले स्थित सेवा समाज श्मसान भूमि (पवन हंस के बगल में ) पहुंचेगी जहां अंतिम संस्कार किया जाएगा।

4.15 बजे – श्मशान भूमि के बाहर बढ़ती भीड़ बेकाबू। स्थिति नियंत्रण करने ले लिए पुलिस को लाठियां पटकनी पड़ी।

4.10 बजे – विले पार्ले सेवा समाज क्रेमेटोरियम में कर्मकांड की विधि शुरू। बोनी कपूर मुखाग्नि देंगे।

3.59 बजे- बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख़ खान भी आये और रणधीर व राजीव कपूर और फरहान अख्तर भी पहुंच गए हैं।

3.53 बजे विले पार्ले श्मसान भूमि पहुंची अंतिम यात्रा

3.35 बजे – श्रीदेवी की अंतिम यात्रा इस समय जुहू इलाके से आगे बढ़ रही है। श्मशान भूमि तक पहुंचे में सिर्फ पांच से दस मिनिट का समय लगता है लेकिन भारी भीड़ के चलते अभी और देर होगी। यात्रा अभी अमिताभ बच्चन के पास से गुजर रही है।

3.28 बजे – श्मशान भूमि में भारी भीड़ के बीच अनुपम खेर, अर्जुन रामपाल और अक्षय खन्ना भी पहुंचे हैं।

3.25 बजे – शबाना आज़मी, जावेद अख्तर, निखिल आडवाणी और अनिल अम्बानी विले पार्ले श्मसान भूमि पहुंचे। यात्रा जुहू पहुंची।

3.10 बजे – जुहू में मीठी बाई कॉलेज के सामने भीड़ इतनी ज़्यादा हो गई कि वहां से अंतिम यात्रा को आगे बढ़ने में काफ़ी वक्त लग सकता है।

3 बजे- अंतिम यात्रा का मार्ग करीब 50 मिनिट में पूरा होगा या उससे भी अधिक समय क्योंकि रास्ते में भीड़ काफ़ी है और संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

विले पार्ले श्मसान भूमि में पैर रखने की भी जगह नहीं हैं।

राजेश खन्ना के बाद ऐसा पहला मौका होगा जब किसी फिल्मी सितारे की अंतिम यात्रा ट्रक पर सज-धज कर निकली हो और साथ में लोगों का कारवां चल रहा हो।

2.56 बजे – अंतिम यात्रा इस समय तक लोखंडवाला बैकरोड पहुंची है। जो अंधेरी मेट्रो मार्ग से होते हुए जुहू सर्किल की तरफ़ बढ़ेगी।

दोनों तरफ़ करीब एक किलोमीटर तक सड़क के दोनों तरफ़ लोग अंतिम दर्शन के लिए खड़े हैं। पार्थिव शरीर के साथ चल रहे ट्रक के पीछे करीब पांच हजार लोगों का हुजूम साथ है।

अँधेरी से जुहू तक का रास्ता वन-वे कर दिया गया है।

2.48 बजे – श्रीदेवी की अंतिम यात्रा स्वामी समर्थ मार्ग, कोकिला बेन अस्पताल मार्ग, जुहू सर्कल, अमिताभ बच्चन जलसा बंगले, मीठी बाई कॉलेज और मीठी बाई स्कूल से होते हुए श्मशान भूमि तक जायेगी।

2.30 बजे-  साढ़े 5 किलोमीटर का घर से श्मशान भूमि से रास्ता है। भारी पुलिस दल और SRPF सुरक्षा में तिरंगे में लपेटा है श्रीदेवी का पार्थिव शरीर। राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार।

2.19 बजे – अंतिम यात्रा शुरू

शनिवार को दुबई के एक होटल में बाथटब में डूबने से श्रीदेवी का निधन हो गया था। तमाम जांच के बाद दुबई सरकार ने इस केस को बंद कर श्रीदेवी की बॉडी को मंगलवार को परिवार को सौंपा था और कल रात ही उनका पार्थिव शरीर मुंबई स्थित घर आ गया।

श्रीदेवी की चाहत थी कि जब वो इस दुनिया से रुख़सत हों तो उनकी विदाई आम न हो। सब कुछ ख़ास हो। हर तरफ़ सफेदी हो। चांदनी सी चमचमाती सफेदी हो। परिवार ने ठीक वैसा ही किया। श्रीदेवी की सफ़ेद विदाई के लिए सफ़ेद फूल से सजावट की गई है। श्रीदेवी के घर के बाहर कल रात से ही दक्षिण से आये करीब 5000 लोगों की भीड़ है जो अपनी अभिनेत्री के अंतिम दर्शन को आतुर हैं।

सितारों की कतारें भी सुबह से ही लग गई थीं। हेमा मालिनी, जया बच्चन, सुष्मिता सेन, अजय देवगन, माधुरी दीक्षित, सुभाष घई, ऐश्वर्या बच्चन, संजय लीला भंसाली सहित सितारों की सूची समय के साथ बढ़ती जा रही है।