संयुक्त मधेशी मोर्चा ने तीन दलों की सहमति को धोखा करार दिया

११ प्रदेशों की सहमति का कडा विरोध होने के बाद आखिरकार संयुक्त लोकतांत्रिक मधेशी मोर्चा ने विज्ञप्ति जारी करते हुए इस सहमति के खिलाफ अपनी असंतुष्टि जाहिर की है। मोर्चा के तरफ से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि पहचान के सवाल को नकारते हुए तीन दलों के बीच आज ११ प्रदेश के गठन पर हुई सहम्ति से मधेशी मोर्चा का कोई लेना देना नहीं है और मोर्चा इस सहमति को स्वीकार नहीं करती है। साथ ही मोर्चा ने संघीयता के पक्षधर रहे सभी पक्षों को एकजुट होकर इस सहमति का विरोध करने की अपील भी की है।
मधेशी मोर्चा और तीन दलों की बैठक में सहमति होने के बाद बाहर यह खबर आई थी कि इस सहमति में मधेशी मोर्चा का किसी ना किसी रूप में समर्थन है इसी वजह से मोर्चा के नेताओं का विरोध करते हुए आज पुतला भी दहन किया गया था।nepalkikhabar.com

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: