संविधान और विकास साथ साथ

इन्द्रबहादुर बानिया
संविधानसभा सदस्य-मकवानपुर क्षेत्र नम्बर १
० संविधान सभा में संविधान निर्माण का काम कैसे आगे बढÞ रहा है –
– संविधानसभा निर्वाचन सम्पन्न होने के बाद इस अवधि में संविधान सभा अपना काम कर रहा है । संविधान सभा की विषयगत समिति, पर्ूव के संविधान सभा ने जो उपलब्धि हासिल की थी उसे संस्थागत करने का काम कर रही है । और साथ ही विषय गत समिति द्वारा बढÞाए गए विषय पर भी बहस हो रही है ।

Indra Baniya- Interview


इन्द्रबहादुर बानिया

० अभी जो काम हो रहे हैं, उससे आप सब संतुष्ट हैं –
-जनता चाहती है कि उन्हें जल्द से जल्द संविधान मिले, संविधान निर्माण का काम जल्दी खत्म हो । जनता ने हमें चुना है, उनके प्रतिनिधि हैं हम, इसलिए उनकी इच्छा को पूरा करना हमारा दायित्व है । इसलिए हम सभी इस कार्य में लगे हुए हैं । देश के सभी प्रमुख दल ने संविधान निर्माण में अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की है, इसलिए हम लक्ष्य में जरूर सफल होंगे ऐसा मेरा विश्वास है । संविधान निर्माण नहीं होने पर इसके पर्ूव के संविधान सभा ने जो अपमान झेला था वह वर्त्तमान सभासदों को पता है, इसलिए भी हम सब संविधान निर्माण के प्रति गम्भीर हैं ।
० संविधानसभा फिर किसी बडÞे दल का बन्धक न बन जाय, जनता के बीच से ऐसी आवाज उठ रही है । आप नेपाली काँग्रेस के सभासद हैं, क्या आपको लगता है कि यह सम्भव है –
-विगत में जो गलती हर्ुइ है उसे राजनीतिक दल फिर से नहीं दुहराएँगे ऐसा मेरा विश्वास है । पर्ूव संविधानसभा सहमति की रट में विघटन हो गई थी, इसलिए इस बार हम सभी सचेत हैं कि सहमति के नाम पर संविधान सभा बन्धक नहीं बने । जिस विषय का समाधान सहमति से होना है वह उसी के द्वारा होगा और अन्य विषय को प्रक्रिया में ले जाकर उसका समाधान खोजना होगा । इन विषयों पर बहस का मुख्य केन्द्र संविधान सभा ही होगा ।
० संविधानसभा निर्वाचन के क्रम में आपने विकास निर्माण का आश्वासन भी दिया होगा –
– हम सभी संविधानसभा सदस्यों की दोहरी जिम्मेदारी है । सांसद की जिम्मेदारी भी हमें ही वहन करना पडÞता है । संविधान सभा निर्वाचन के समय हमने क्षेत्र के विकास के लिए भी प्रतिबद्धता व्यक्त की थी । मैं आश्वासन से अधिक काम करने में विश्वास करता हूँ । विकास करने की वजह से ही जनता ने मुझमें अपना विश्वास दिखाया है । मैं जिस समय जनप्रतिनिधि नहीं था उस समय भी मैंने विकास कार्य किया है ।
० संविधान निर्माण या विकास, आपका ध्यान ज्यादा कहाँ है –
– संविधान निर्माण का काम मेरी पहलीे प्राथमिकता है । संविधान निर्माण की जिम्मेदारी देकर मुझे जनता ने संविधानसभा के प्रतिनिधि के रूप में चुना है । इसके साथ अपने क्षेत्र का विकास भी मेरे लिए उतना ही महत्वपर्ूण्ा है जितना संविधान निर्माण । मैं संविधान निर्माण के क्रम में ही जनता की रोजी रोटी और विकास के सवाल पर भी ध्यान दे रहा हूँ ।
० निर्वाचन में विजयी होने के बाद आपने कौन सा महत्वपर्ूण्ा काम किया है –
– मेरे क्षेत्र में मकवानपुर का अधिकांश विकट गाँव पडÞता है । गाँव के अधिकांश क्षेत्र में सडÞक सुविधा का अभाव है । मेरी पहली प्राथमिकता गाँववासियों को सडÞक से जोडÞ कर गाँव के उत्पादन का बाजारीकरण करना है । निर्वाचन में विजय प्राप्त करने के बाद सबसे पहला काम मैंने व्यक्तिगत निवेश के द्वारा सडÞक निर्माण में किया है, जो काम अभी हो रहा है । इसी के साथ स्थानीय विकास मंत्रालय और जिविस के द्वारा अपने क्षेत्र में विकास की योजना ले जाने की पहल की है । साथ ही सांसद विकास कोष द्वारा प्राप्त होनेवाली राशि को विद्यालय और पीने का पानी उपलबध कराने में खर्च किया है । ।
० कान्ति लोकपथ और दु्रतमार्ग भी आपके क्षेत्र में ही पडÞता है इस विषय में आपकी क्या दिलचस्पी है –
– कान्ति लोकपथ का इतिहास ६ दशक लम्बा है । यह रास्ता बहुत वर्षपहले ही पर्ूण्ा रूप में संचालन में आ जाना चाहिए था । किन्तु विगत में जो जनप्रतिनिधि थे उनका ध्यान विकास से अधिक भाषण में था जिसकी वजह से इसका विकास नहीं हो पाया साथ ही बजट का सही ढंग से नहीं आ पाना भी इसके विकास में अवरोध पैदा करता रहा । इसलिए मैं और ललितपुर क्षेत्र नम्बर १ के सभासद की पहल में कान्तिलोकपथ को पहली प्राथमिकता की योजना में शामिल कराने में सफल हो पाए और ३४ करोडÞ रूपए का बजट बहुवषर्ीय ठेका प्रणाली के लिए विनियोजन हुआ । हम दोनों निरन्तर मकवानपुर और ललितपुर का स्वरूप बदलने में प्रयासरत हैं । द्रुतमार्ग के विषय में भी हमने सरकार का ध्यानाकर्षा कराया है । राज्य भी अपने तरीके से इस काम को आगे बढÞाने की सोच में है ।
० अन्त में, आपका मुख्य लक्ष्य क्या है –
– जनता के साथ जो प्रतिवद्धता मैंने की है उसी के अनुसार लोकतान्त्रिक संविधान निर्माण मेरा लक्ष्य है । इसके साथ ही अपने गाँव को सडÞक सुविधा से परिपर्ूण्ा करना, विद्यालयों को सुविधा सम्पन्न बनाना, गुणस्तरीय शिक्षा उपलब्ध कराना, पीने का स्वच्छ जल और विद्युत आपर्ूर्ति आदि की जो मांग है उसे पूरा करना मेरा लक्ष्य है । जनता को मैं यह विश्वास दिलाना चाहता हूँ कि संविधान और विकास साथ-साथ होगा । उनसे मेरा आग्रह है कि वो विश्वास करें । J
प्रस्तुतिः गोविन्द न्यौपाने/हेटौडा

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: