संविधान संशाेधन का नाटक पूर्व नियाेजित था : अछुतम कुमार अनन्त

अछुतम कुमार अनन्त, जनकपुरधाम ( हाल मलेशिया ) | संविधान संसोधन का नाटक पूर्व नियोजित था । राजपा नेपाल को किसी भी तरह स्थानीय चुनाव में लाने के लिए यह नाटक रचा गया था। राजपा नेपाल अर्थात राष्ट्रीय जनता पार्टी ने प्रदेश नंबर २ में होने वाली स्थानीय चुनाव में भाग लेने का निर्णय किया है । राजपा नेपाल के पार्टी कार्यलय में सम्पूर्ण पदाधिकारी ने सर्वसमति से चुनाव में जाने का निर्णय लिया । अब प्रश्न ये आता है कि आखिर बिना संविधान संसोधन राजपा नेपाल ने चुनाव में जाने का निर्णय क्यों लिया ? कुछ दिन पहले तक राजपा नेपाल के नेता एवं कार्यकर्ता चुनाव का विरोध कर रहे थे । पिछले चरण के चुनाव में मधेशवादी दल संघीय समाजवादी फोरम और मधेशी जनअधिकार फोरम(लो.)ने चुनाव में भाग लिया । उस वक्त राजपा नेपाल के नेतों और कार्यकर्ताओं ने संसफो और मजफो(लो.) के नेताओं को मधेश के गद्दार घोषित कर दिया था । फिर आज किस मुँह से राजपा नेपाल के नेता बिना संविधान संसोधन चुनाव में भाग ले रहे है ? यह घटना अचानक नही हुई है । यह पूर्ण रूप से नियोजित था ।

जो नेपाली कांग्रेस और माओवादी केंद्र कल तक संसोधन विधेयक टेबल नही करना चाहता था । उसने संसोधन विधयक संसद में पेश किया । एमाले जो संसोधन विधेयक संसद में पेश नही होने दूंगा का रट लगा रहा था । उसने संसोधन विधेयक पेश होने दिया । राप्रपा नेपाल जो संसोधन विधेयक के पक्ष में था । वह अचानक से बिपक्ष में चला गया । यह घटना अचानक नही हुई ।

यह घटना भारतीय बिदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आने के बाद हुआ । भारत हमेशा से नेपाल के शक्ति केंद्र के साथ रहा है । आज भी भारत उसी के साथ है । इसके बहुत से कारण है । वर्तमान में भारत के खिलाफ नेपाल के पहाड़ी इलाके में भारत विरोधी लहर चल रही है । यह लहर कोई आज से नही । सदियों से चली आ रही है ।  नेपाल का शासक हमेशा से भारत के करीब रहा है । पर इस बीच नेपाल के शासक कुछ दिनों से चीन के बहुत करीब हो रहे है । मसलन चीन के साथ OBOR साथ जाना । जब कि भारत ने चीन की इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट के साथ जाने से इनकार किया । कुछ दिन पहले चीन और नेपाल के बीच तीन सूत्रीय समझौता । भारत सरकार यह सब देख दबाब में था ।

भारतीय बिदेश मंत्री सुषमा स्वराज नेपाल में आने के बाद संविधान संसोधन का नाटक रचा गया । जिस में राजपा नेपाल को बली के बकरे की तरह प्रयोग किया गया । इस नाटक में नेपाली कांग्रेस को हीरो बनाया गया । एमाले और राजपा मधेश में बिलेन बन गए । सँसफो,मजफो(लो.)और राप्रपा तो मधेश के लिए पहले से ही बिलेन था ।  अाैर अगामी चुनाव में इन दलाें काे इसका फायदा मिलेगा यही उनकी रणनीति है । पर मधेश की जनता इतनी बेवकूफ नहीं है जाे अपने पराए काे जान नहीं पाए ।

अछुतम कुमार अनन्त

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: