संशोधन प्रसताव परिमार्जन हो सकता है लेकिन फिर्ता नहीं लिया जाएगा– प्रधानमन्त्री दाहाल

pm-dahal
दागं ७ दिसम्बर ।
प्रधानमन्त्री पुष्पकमल दाहाल प्रचण्ड ने आज एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि संविधान संशोधन प्रस्ताव कुछ परिमार्जन हो सकता है, लेकिन किसी भी हालत में फिर्ता नही हो सकता ।
दांग की राप्ती नदी में सिसहनिया महादेवा जोडने बाली पुल की शिलान्साय समारोह को आज देउखुरी में संबोधन करते हुए कहा कि मैं प्रधानमन्त्री रहने तक ये संशोधन प्रस्तव किसी भी हालत में फिर्ता नहीं होगा । यद्यपि उन्होंने परिमार्जन होने की बात की ।
प्रमुख प्रतिपक्षी नेकपा एमाले ने सरकार द्वारा संसद में दर्ता किया गया संशोधन प्रस्ताव को राष्ट्रघाती बताते हुए फिर्ता लेने के लिए दबाब दे रही वर्तमान समय में यद्यपि सरकार ने फिर्ता न लेने की बात की । प्रधानमन्त्री दाहाल ने संशोधन ाप्रस्ताव के विरोध में आन्दोलनरत दलों को आन्दोलन छोड सहमति में आने की अपिल भी की ।
सभा को संबोधन करते हुए प्रधानमन्त्री दाहाल ने कहा कि सरकार हिमाल पहाड तथा तराई को जोडकर एकताबद्ध करना चाहती थी, राष्ट्रीय एकता मजबुत करना चाहती थी लेकिन हम तो बिखण्डन करने के लिए आगे बढे थें कहते हुए कुछ समय पश्चात एमाले स्वयम गलती महसुस करेगी ।
Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz