संसद बैठक : जानिए कौन से नेता नें क्या दमदार बात कहीं ? (पुरी कहानी)


हिमालिनी डेस्क
काठमांडू, १२ मार्च ।
प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने देश की समृद्धि को साझा अभियान बताते हुए सत्तापक्ष और प्रतिपक्ष सभी को मिलकर इस अभियान में जुटने का आह्वान किया । प्रतिनिधि सभा की बैठक में विश्वास मत प्रस्ताव करते हुए उन्होंने ये बात कही ।

ये कहते हुए कि सरकार लोकतांत्रिक मूल्य–मान्यताओं को अपनाते हुए आगे बढ़ेगी, उन्होंने सरकार की लोकतांत्रिक मान्यता को लेकर शक न करने का आग्रह किया । बैठक में माओवादी केंद्र के अध्यक्ष पुष्पकमल दाहाल प्रचंड ने कहा कि नेपाली जनता भाषण नहीं, सीधा परिणाम चाहती है ।

मौके पर नेपाली कांग्रेस के उप–नेता विजय कुमार गच्छदार ने कहा कि सरकार की आर्थिक समृद्धि की कार्य योजना में कांग्रेस का साथ रहेगा । साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि लोकतंत्र में सदन को प्रतिपक्ष विहीन नहीं रहना चाहिए । आगे उन्होंने कहा— “हम सरकार के काम–कार्यवाहियों को देखते हुए समर्थन या विरोध करेंगे ।

मौके पर संघीय समाजवादी फोरम नेपाल की सांसद सरिता गिरि ने संविधान संशोधन के जÞरिए समानुपातिक समावेशी की व्यवस्था के पूर्ण क्रियान्वयन की माँग की थी । वहीं राष्ट्रीय जनता पार्टी नेपाल के अध्यक्ष मंडल के सदस्य महेंद्र राय यादव ने कहा कि देश की राष्ट्रीय एकता को मजबूत बनाने और जन अपेक्षा अनुसार आर्थिक समृद्धि के लिए मौजूदा सरकार को उनकी पार्टी पार्टी का विश्वास मत है ।

इसी तरह राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी, राष्ट्रीय जनमोर्चा, नेपाल मजदूर किसान पार्टी के सांसदों ने भी अपनी अपनी पार्टी की ओर मौजूदा सरकार को विश्वास मत जताते हुए अलग–अलग माँगों का जिक्र किया ।

बैठक में कांग्रेस सांसद गगन थापा ने कहा कि देश की समृद्धि के लिए व्यक्ति नहीं, बल्कि समूची सरकारी संरचना मजबूत होनी चाहिए । साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि सरकार की कमी–कमजरियों को लेकर खबरदार करने के लिए कांग्रेस ने प्रतिपक्ष चुना है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: