सचिन तेंडुलकर : वे बातें, जो आप जानना चाहते हैं

मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर एक बार फिर महाशतक चूक गए। महाशतक के लिए इंतजार और लंबा हो गया और अब यह सचिन के फैन्स को बैचेन करने लगा है।

FILE

24 अप्रैल 1973 को मुंबई में जन्में सचिन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 99वें शतक बनाए हैं। पेश हैं सचिन के इस सफर के दौरान उनसे जुड़ी कुछ खास बातें-

* सचिन के पिता रमेश तेंडुलकर मराठी शिक्षक व कवि और मां रजनी हाउस वाइफ रहीं।

* सचिन ने 11 साल की उम्र में पहली बार क्रिकेट बैट थामा।

* 13 साल की उम्र आते आते शारदा आश्रम स्कूल की तरफ से खेलते हुए सचिन ने विनोद कांबली के साथ 664 रनों की साझेदारी का विश्व रिकॉर्ड बनाया।

* रणजी ट्रॉफी व दिलीप ट्रॉफी के पदार्पण मैच में शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी।

* 16 साल 256 दिन की उम्र में पाकिस्तान के खिलाफ पहला टेस्ट 1989 में कराची में खेला।

* 18 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो शतक लगाए, जिनमें सिडनी में 148 रन और पर्थ में 114 रनों की पारी खेली।

* शुरुआती दिनों में सचिन तेज बॉलर बनना चाहते थे, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।

* सचिन की इस प्रतिभा को उनके बडे़ भाई अजीत ने पहचाना और गुरू रमाकांत आचरेकर के पास ले गए, जहां पहली बार में सचिन असफल रहे लेकिन अजीत के आग्रह पर सचिन को फिर मौका मिला।

* सचिन की सफलता में उनके भाई अजीत का बड़ा हाथ रहा, सचिन पर ध्यान देने के लिए जीत ने शादी भी नहीं की।

* सचिन ने अपने शुरुआती दौर में बहुत संघर्ष किया। सचिन के पास एक ही क्रिकेट ड्रेस थी, जिसे रोज शाम धोकर जब सचिन सुबह प्रैक्टिस पर जाते तो जेब गीली ही रह जाती थीं। सचिन आज भी उन दिनों की याद रखते हैं।

* सचिन घर से दूर अपनी काकी के घर रहा करते थे, जिससे उन्हें क्रिकेट की साधना में बाधा न हो।

* सचिन दिन में 16 घंटे नेट पे प्रैक्टिस करते थे।

* जब सचिन थक जाते तो आचरेकर सर स्टंप्स पर एक रुपए का सिक्का रख देते थे।

* यह सिक्का उसे मिलता जो सचिन को आउट कर पाता और अगर सचिन आउट नही होते तो वह सिक्का सचिन का हो जाता था। आज भी ऐसे 13 सिक्के सचिन ने संभाल कर रखे हैं।

* 23 साल की उम्र में सचिन भारतीय टीम के कप्तान बने।

* 21 साल से लगातार क्रिकेट खेल रहे सचिन 185 वनडे मैच में लगातार क्रिकेट खेलने का रिकॉर्ड बनाया।

* सबसे अधिक वनडे और टेस्ट मैच खेलने का रिकॉर्ड भी सचिन के नाम है।

* 90 विभिन्न क्रिकेट ग्राउंड में 442 पारियां खेलने का रिकॉर्ड सचिन का है।

* वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले एक मात्र खिलाड़ी। सचिन ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 147 गेंदों में नाबाद 200 रन बनाए।

* एक कैलेंडर वर्ष में 1000 रन बनाने का कारनामा सचिन सात बार कर चुके हैं। वे 1994, 1996, 1997, 1998, 2000, 2003 और 2007 के कैलेंडर वर्ष में एक हजार या इससे ज्यादा रन बना चुके हैं।

* एक कैलेंडर वर्ष (1998) में सबसे अधिक रन 1894 बनाने वाले एक म‍ात्र खिलाडी़।

* सभी मुख्य क्रिकेट खेलने वाले देशों के खिलाफ 1000 रन बनाए हैं।

* वनडे (1895) व टेस्ट में सबसे अधिक चौके लगाने व वनडे की एक पारी में सबसे अधिक 24 चौके का रिकॉर्ड सचिन के नाम है।

* वर्ल्डकप के प्रदर्शन में भी सचिन रिकॉर्ड के बादशाह हैं। सबसे अधिक रन (2273 रन), सबसे ज्यादा अर्धशतक (15), सर्वाधिक शतक (6) और एक विश्व कप में सबसे ज्यादा रन (673 रन 2003 विश्व कप) का रिकॉर्ड भी सचिन के नाम है।

* सर्वाधिक वनडे (18111) रन और टेस्ट (15090) रन बनाने वाले खिलाडी़ हैं। अंतरराष्ट्रिय क्रिकेट में 33,000 रन बनाने वाले एकमात्र खिलाडी हैं।

* टेस्ट मैच में छह बार दोहरा शतक बनाने वाले खिलाड़ियों में शामिल।

* 100 टेस्ट मैच खेलने वाले सबसे युवा खिलाडी़।

* सचिन के नाम एक अनोखा रिकॉर्ड है। सचिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार नर्वस नाइंटीज का शिकार ह‍ुए हैं। वे 17 बार वनडे में 10 बार टेस्ट में नर्वस नाइनटीज का शिकार हो चुके हैं। इस तरह वे कुल 27 बार नर्वस नाइनटीज का शिकार हुए।

* सचिन सबसे ज्यादा बार ‘मैन ऑफ द मैच’ और ‘मैन ऑफ द सिरीज’ पाने वाले खिलाडी़ हैं, जिसमें 62 ‘मैन ऑफ द मैच और 15 ‘मैन ऑफ द सिरीज’ शामिल हैं।

* बात सचिन को मिले पुरस्कारों की हो तो खेल की किसी भ‍ी श्रेणी में सर्वाधिक पुरस्कार प्राप्त करने वाले खिलाड़ी हैं।

* (1992) 1000 रन बनाने वाले सबसे युवा खिलाड़ी।

* (1997) ‘विज्‍डन क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ के लिए नॉमिनेट।

* (1998) ‘राजीव गांधी खेलरत्न पुरस्कार’ जो खेल की श्रेणी में श्रेष्ठ पुरस्कार है।

* (1999) ‘पद्मश्री’ से नवाजे गए, जो भारत के राष्ट्रपति द्वारा दिया गया सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। (वेबदुनिया डेस्क)

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: