सप्तरी महोत्सब सम्पन :करुणा झा

सप्तरी महोत्सव तथा पर्ूवाञ्चल क्षेत्रीय मेला पुस १४ गते से २३ गते तक हुआ। राजविराज के स्थानीय राज रंगशाला में शुरु हुआ इस मेले का उद्घाटन विश्व के दूसरे सबसे छोटे व्यक्ति के रुप में गिनिज बुक आँफ वर्ल्ड रर्ेकर्ड में अपना नाम दर्ज करानेवाले खगेन्द्र थापा मगर तथा पंचकन्या ने संयुक्त रुप से किया। इस महोत्सव को शान्ति, सद्भाव और विकास के लिए प्रतिबद्धता के साथ मनाया गया। उद्घाटन समारोह में एक और विश्व कर्ीर्तिमान बनानेवाले सप्तरीवासी चर्चित क्रिकेटर महबूब आलमको सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित उद्योग वाणिज्य संघ के पर्ूवाञ्चल अध्यक्ष किशोर प्रधान, उपाध्यक्ष श्रीराम शर्मा, विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि, सप्तरी के प्रमुख जिल्ला अधिकारी लेखनाथ पोखरेल, स्थानीय विकास अधिकारी प्रेमप्रसाद भट्टर्राई सबों ने सप्तरी के विकास के लिए, यहाँ जो उद्योग-धन्धे बन्द हैं, यहाँ का हवाई अड्डा जो कुछ सालों से सुचारु नहीं है, इन सब को फिर से अच्छे ढंग से सुचारु कर यहाँ की आर्थिक कमी को दूर करने की बात कही। किशोर प्रधान ने कहा कि १ रु. का अभियान चलाकर यहाँ के हवाई अड्डे को फिर से जीवित किया जा सकता है। महोत्सव में कूल १५० स्टाल लगे थे। जिसमें कृषि का आधुनिकीकरण, पर्यटन, सूचना प्रविधि, संस्कृति, घरेलू हस्तकला तथा स्थानीय स्तर में उत्पादित बस्तुओं के स्टाल थे। मिथिला चित्रकला का भी यहाँ बहुत बढिया और उत्कृष्ट नमूना देखने को मिला। इसके साथ विभिन्न प्रकार के झूले, कृषि सामग्री और गाडिÞयों का भी अच्छा खासा बाजार था।
दश दिनों तक यह महोत्सव चला, जिस में प्रत्येक दिन कम से कम दश से पन्ध्र हजार लोगों द्वारा अवलोकन होता रहा। महोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रम में स्थानीय कलाकारों के साथ-साथ बाहर से आए हुए कलाकारों ने लोगों को अपने सुर, संगीत तथा नृत्यों से भरपूर मनोरंजन दिया। नेपाली फिल्मों की अभिनेत्री अनिता दहाल तथा पटना से आई करिश्मा ने तो अपने नृत्यों से ऐसा शमा बाँधा कि इतनी ठंड के बाबजूद भी लोग झूमते रहे।
सप्तरी की चर्चित नृत्यांगना, जिन्होने मलेशिया, कतार, भारत तथा कई देशों में अपने नृत्य से लोगों को मंत्रमुग्ध किया है डोली सरकार, भी महोत्सव का एक महत्वपर्ूण्ा हिस्सा थी। स्थानीय गायकों तथा गायिकाओं में देवेन्द्र सोनी, कैलाश झा, सुनीता साह, अंजु यादव, महि नारायण मण्डल, सोनु और राजू देव ने भी अपने गीतों से महोत्सव में चार चाँद लगाए। सप्तरी उद्योग वाणिज्य संघ ने दो लाख पर्यटक के आने का लक्ष्य रखा था, पर तीन लाख से भी ज्यादा पर्यटक आए। वैसे ही ५ करोडÞ का कारोबारका लक्ष्य था जिस में ६ करोडÞ ६५ लाख का कारोबार हुआ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz