सब से सुन्दर है राखी त्योहार भइया : संगीता ठाकुर

राखी
सब से सुन्दर है राखी त्योहार भइया
बहना बाँधे राखी तेरे हाथ भइया ।
तुम हो घर मे आलोकित प्रकाश भइया
हम बहनों के धरा पर हो प्यार भइया ।
तुम न होते तो घर कैसा होता सुना
माता पिता रहते है उदास सदा ।
तुम हो सावन पूर्णिमा के चाँद भइया
अपने बहनों के राखी का ताज भइया ।
चाँद उगने से खिल जाती सृष्टि पूरी
सूरज आने से होता प्रकाशित धरती ।
तुम हो धरती आकाश के प्राण भइया
अपने बहना होठो का मुस्कान भइया ।
यह है जीवन दिर्घायु का सूत्र भइया
बहना बाँधे राखी तेरे हाथ भइया ।
यह है जग मग जीवन का त्योहार भइया
भाई बहना के अनमोल है प्रेम भइया ।।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: