सरकार द्वारा वर्ता के लिए फिर से आह्वाहन

संवाददाता, जेठ ७
संविधान प्रति असंतुष्टि व्यक्त करती आरही आन्दोलन रत दल एवम् समुदाय को वार्ता के लिए फिर से आह्वाहन किया गया है ।

kp.oli
प्रधानमन्त्री केपी शर्मा ओली ने जायज रजनीतिक माग संवाद मार्फत संबोधन करने को सरकार तैयार है बताया ।
लुम्बिनी मे सुरु अन्तराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन को संबोधन करते हुए प्रधानमन्त्री ओली ने कहा आन्दोलरत सभी राजनीतिक दल तथा समुदाय की जायज माग संबोधन करने को वर्तमान सरकार खुला है । साथ ही उन्हों ने राष्ट्रीय विकास और एकता के लिए सहकार्य में जोड देने की अपील की ।
प्रधानमन्त्री ओली ने कहा इस विशेष अवसर पर सभी सरोकार वालों को राष्ट्रीय सर्थ को आगे रखने को आग्रह कीया ।
सदभावना पार्टी के महासचिव मनिष सुमन ने सरकार से निरर्थक वार्ता का कोइ प्रश्न ही नही उठ्ता बताया । सुमन ने कहा इस से पहले ३६ बार वार्ता असफल रही है अगर सरकार सार्थक वार्ता करना चाहती है तो पहले हमरे बन्दी कार्यकर्ताओं को रीहा करें, क्षतिपूर्ति देकर सार्थक वार्ता के लिए पृष्ठभूमि बनाए उस के बाद वार्ता के लिए सोंचिजाएगी ।

Loading...
%d bloggers like this: