सलाखों के पीछे सिकन्दरः टूटी अपराध की रीढ

विनय दीक्षित नपे ालगन्ज/ :चनु ाव म ंे कर्इ  नते ाआ ंे की सुपारी लेने और अपराध के बेताज बादशाह के रूप म ंे चचिर्त माष्े टवान्टडे अपराधी सिकन्दर खाँ की गिरफ्तारी से आम जनता और अपर ाध जगत म ंे अफरातफरी मच गर्इ। एकबार सुनने से तो लोगों को यकीन ही नहीं हो रहा था, लेकिन जब मीडिया ने गिर फ्तारी की पुष्टि की तो सिकन्दर से पीडित लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। दर्जनों हत्या, फिरौती, चन्दा और अपहरण के लिए चर्चित अपराधी सिकन्दर की गिरफ्तारी ने लोगो को कई उम्मीदों से बाँध रखा है।

चर्चित केस आमिर अन्सारी के अपहर ण और उससे सम्बन्धित तथ्य अब खुलकर सामने आने की आश में आमिर का परिवार भी उम्मीद लगाए बैठा है। भारत में छिपकर नेपाल में अपराध को अन्जाम देने में माहिर सिकन्दर को इससे पहले भी पुलिस ने गिरफ् तार किया था लेकिन राजनैतिक संरक्षण में उसे छोडÞ दिया गया था। लोगों को आशंका है कि कहीं फिर से सिकन्दर न छूटे। कुख्यात अपराधी और तरर् ाई जनतान्त्रिक पार्टर्ीीधेश के बाँके बर्दिया संयोजक सिकन्दर अलि शेष -खाँ गिरफ्तार ी के दूसरे दिन ही जनतान्त्रिक तर्राई मधेश मुक्ति पार्टर्ीीे अध्यक्ष भगत सिंह उर्फअर्जुन सिंहको भी पुलिस ने दबोच लिया। हालांकि सिंह सरकार से शान्ति वार्ता के क्रम में थे। उन्होने स्थानीय प्रशासन को हथियार भी सौंप दिया था।

पुलिस श्रोत के मुताबिक भगत सिंह फिर सशस्त्र गतिविधि की तयारी में थे। सिकन्दर के बयान के आधार पर सिंह को पुलिस ने भारतीय क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। बात यहीं नहीं थमी, पुलिस ने लम्बी लिस्ट तयार की है और माना जा रहा है कि अपराध करने वालों को सहयोग करने में संलग्न हर किसी को गिरफ्तार किया जाएगा। बाँके पुलिस ने पत्रकार सम्मेलन कर और तीन लोगों के गिरफ्तार होने की पुष्टि की है। तर्राई जनतान्त्रिक पार्टर्ीीधेश के सक्रिय कार्यकर्ता बाँके बेतहनी-१ निवासी धुव्रकुमार चौधरी कर्ुर्मी -३८), होलिया-७ निवासी वेदर ाम पासी -४८) और होलिया-१ निवासी नूर अहमद दर्जी -२२) को पुलिस ने पत्रकार सम्मेलन में र्सार्वजनिक किया है। र्सार्वजनिक किए गए तीनों को भाद्र २४ गते नेपालगन्ज-२ निवासी देवेन्द्र शर्मा -४७) के अपहरण में संलग्न बताया गया है।

बाँके के प्रमुख पुलिस नायब उपरीक्षक प्रेम बस्नेत ने तीनों पर अपहरण कर फिरौती लेने का केस दायर किया है। शर्मा को अपहरण कर ७ लाख असूल किया गया था। पुलिस ने नेपाली कांग्रेस के स्थानीय नेता तथा गनापुर के पर्ूव गाविस अध्यक्ष दुखीराम लोनिया और तमलोपा के युवा नेता र्टार्जन उर्फरामसिंह सोनीको भी गिरफ्तार किया है। निशाने पर हाईप्रोफाईल लोग पुलिस ने कहा कि अपराध करने में उत्प्रेरित या सहयोग करने वाले किसी को भी नहीं छोडÞा जाएगा। जिला एसपी भूपालकुमार भण्डारी ने पत्रकार सम्मेलन में कहा- कई ऐसे चेहरे हैं कि जिन पर लोग शक भी नहीं कर सकते। उन्होंने कहा- बाँके ही नहीं पूरे मध्यपश्चिम को हम अपराध से मुक्त कर नें मे लगें हुए हैं। पुलिस का निशाना अब हाईप्रोफाईल लोगों पर भी है, जिन्हो ने किसी न किसी बहाने से अपराध को सहयोग किया है या अपराधी से फायदा लिया है।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: