Mon. Sep 24th, 2018

सशस्त्र संर्घष् से शान्तिपर्ण् राजनीति

हाल में गठित हुए मधेशी जनअधिकार फोरम गणतांत्रिक के अध्यक्ष जयप्रकाश गुप्ता जब पार्टर्ीीठन के बाद पहली बार मधेश का दौरा करने निकले तो उन्हें मिल रही जनर्समर्थन की उम्मीद शायद किसी को भी नहीं थी । ऊपर से जब नेपालगंज में अपने भाषण के दौरान गुप्ता ने सशस्त्र समूहों को हथियार की राजनीति छोडÞ शान्तिपर्ूण्ा राजनीति में आने का आह्वान किया तो इस बात को मीडिया ने उतनी तवज्जो नहीं दी और ना ही राजनीतिक पंडितों को उनके इस बात से कोई असर होने का आभास था । लेकिन अपने हर भाषण में सशस्त्र समूह को बार-बार अपील करने वाले जेपी गुप्ता को अपनी रणनीति का अहसास जरूर था ।
जनकपुर में जब सशस्त्र समूह जनतांत्रिक तर्राई मुक्ति मोर्चा के एक घटक ने फोरम गणतांत्रिक में विलय की घोषणा की तो लोगों को जेपी के बातों का असर देखने को मिला । हालांकि इस घोषणा के बाद भी नेपाल की राष्ट्रीय मीडिया को विश्वास नहीं हुआ और विलय के घोषणा की तस्वीर देखने तथा हस्ताक्षर किए हुए दस्तावेज को देखने के बाद ही उन्होंने समाचार प्रकाशित किया ।
धनुषा-महोत्तरी सहित आस पास के क्षेत्र में अपना प्रभाव दिखा चुकी मोर्चा के उत्कर्षमुक्ति घटक ने फोरम गणतान्त्रिक में विलय होने की घोषणा की । इस मोर्चा के प्रमुख रहे राजीव झा ने जेपी गुप्ता के साथ एक पत्रकार सम्मेलन इसकी औपचारिक घोषणा करते हुए स्वायत्त मधेश प्रदेश की मांग पर सशक्त शान्तिपर्ूण्ा आन्दोलन करने की प्रतिबद्धता दोहर्राई है । पत्रकार सम्मेलन में बोलते हुए फोरम गणतांत्रिक के अध्यक्ष जेपी गुप्ता ने कहा कि माधव नेपाल सरकार की गलत नीति के कारण सशस्त्र आन्दोलन में रहे दर्जनों समूहों ने शान्तिपर्ूण्ा वार्ता को छोडÞकर फिर से सशस्त्र युद्ध में जाने को मजबूर हुए । उन्होंने मांग की कि सरकार मधेश में राजनीतिक मांग करते हुए सशस्त्र संर्घष्ा कर रहे विभिन्न संगठनों को फिर से शान्तिपर्ूण्ा राजनीति में लाने के लिए विश्वास का वातावरण बनाएँ ।
फोरम गणतान्त्रिक में एक सशस्त्र समूह के विलय के बाद फोरम लोकतांत्रिक भी पर्ूर्वी पहाडÞ में सशस्त्र संर्घष्ा कर रही खम्बुवान मुक्ति मोर्चा के साथ कार्यगत एकता की घोषणा की है । यद्यपि फोरम गणतान्त्रिक के नेता रामजनम चौधरी ने स्पष्ट किया है कि ये सिर्फकार्यगत एकता है, कोई पार्टर्ीीकता नहीं । उधर तमलोपा से अलग हर्ुइ तमलोपा नेपाल और संयुक्त जनतान्त्रिक तर्राई मुक्ति मोर्चा के बीच भी एकता की खबरें आ रही हैं । मोर्चा के प्रमुख पवन उर्फप्रहृलाद गिरी ने शान्तिपर्ूण्ा राजनीति में आने की इच्छा व्यक्त की है । मधेशी भाइरस किलर्स पहले ही मातृका यादव की पार्टर्ीीें समावेश हो चुकी है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of