Sun. Sep 23rd, 2018

सहमति वेगैर संविधान जारी हुआ तो मान्य नही : राजेन्द्र महतो

SAM_1363नेपालगन्ज ,पवन जायसवाल २०७१, मंसीर ३ गते । सद्भावना पार्टी के केन्द्रीय अध्यक्ष राजेन्द्र महतो ने कहा है कि जनता मे परिवर्तन की भावना को आत्मसात नही करके अगर जबरदस्ती नयाँ संविधान जारी किया गया तो हमे मान्य नही होगा।
देश में संविधान निर्माण मे संघियता का बिवाद चलरहा है । इसी के मद्देयनजर  मधेश दौडा में रहे अध्यक्ष महतो ने प्रेस मञ्च नेपाल बाँके व्दारा आयोजित मंगलवार को नेपालगन्ज में पत्रकार सम्मेलन मे यह विचार रखा ।
पत्रकार सम्मेलन में बोलते हुयें प्रक्रिया के नाम पर बनाया गया संविधान हम लोगों को मान्य नही होगा । इसतरह से जारी किया गया संविधान को उसी दिन जला दिया जायेंगा महतो ने बताया ।

उन्होंने कहा कि हम लोगों का एजेण्डा सामेल किये वेगैर अगर संविधान जारी हुआ तो  उस संविधान को जलाकर देश में शसक्त आन्दोलन किया जायेगा । प्रक्रिया से ही संविधान जारी होना चाहिए बताते हुयें पूर्व स्वास्थ्य मन्त्री समेत रहे  महतो ने प्रक्रिया के नाम में विगत में हुये परिवर्तन के एजेण्डा को छोड्कर संविधान नही बनना चाहिए ।

नेपाली काँग्रेस एमाले परिवर्तनकारी संविधान जनता को देनेके लियें तैयार नही है उन्होने आरोप लगाया । अभी तक हुआ परिवर्तनों को साथ में रखकर संविधान बनाने के लियें उन्होने बताया ।
महतो ने काँग्रेस एमाले व्दारा लाया गया संविधान का खाका, राज्य संरचना की खाका जनता के पक्ष में नही है बताया । इस के अलावा देश में परिवर्तनकारी शक्तियों का उदय होना जरुरी रही है उन्होने बताया । देश में सभी का  अधिकार होने वाला नयाँ संविधान निर्माण होना चाहिए अध्यक्ष महतो ने जोड देकर कहा । मधेश आन्दोलन में शहीद हुयें परिवारों की सपना साकार होना चाहिए  उन्होंने बताया ।
विगत में हुआ सम्झौता के आधार में संविधान निर्माण होना चाहिए  और माघ ८ गते को ही नया संविधान जारी नही हुआ तो उस का दोषी नेपाली काग्रेस और एमाले होगें आरोप लगाया । पत्रकार सम्मेलन कार्यक्रम प्रेस मञ्च नेपाल के केन्द्रीय सह–सचिव आषीश गुप्ता के अध्यक्षता में हुआ था ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of