Mon. Sep 24th, 2018

सांसदों का सुझावः सीमा विवाद और बाढ़ समस्या पर मोदी के साथ बातचीत होनी चाहिए

काठमांडू, १० मई । सांसदों ने सरकार को सुझाव दिया है कि भारतीय प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के साथ सीमा विवाद, सीमा सुरक्षा और तराई–मधेश डुबान के बारे मं बातचीत कर समस्या समाधान करनी चाहिए । विहीबार आयोजित प्रतिनिधिसभा बैठक में विशेष समय लेकर सांसदों ने सरकार को ऐसी सुझाव दी है । एमाले सांसद लिलानाथ श्रेष्ठ ने कहा है– ‘हर साल तराई–मधेश में बाढ़ के कारण भारी क्षति होती है, उसको नियन्त्रण करना होगा । सुनकोशी कमला डाइभर्सन के लिए बजट विनियोजन करना चाहिए ।’ सांसद श्रेष्ठ का कहना है कि प्रदेश नं. २ में वहां की जनसंख्या और मानव विकास सूचकांक के आधार पर बजेट विनियोजन होना चाहिए ।
सांसद संजय कुमार गौतम ने कहा कि भारतीय प्रधानमन्त्री मोदी के साथ विगत की सन्धी–सम्झौता कार्यान्वयन पर जोर देकर बातचीत होनी चाहिए । साथ में उन्होंने यह भी कहा कि तराई–मधेश डुबान में भारतीय सहयोग अपरिहार्य है, इस विषय को भी प्राथमिकता में रखकर बातचीत होनी चाहिए । सांसद महेश्वर गहतराज ने कहा कि तराई–मधेश डुबान समस्या समाधान के लिए भारतीय प्रधानमन्त्री मोदी के साथ बातचीत होना चाहिए । अन्तर्राष्ट्रीय मान्यता के विपरित भारत द्वारा निर्मित बांध के सम्बन्ध में पुनर्विचार करने के लिए उन्हों आग्रह किया । उनका कहना है कि लक्ष्मणपुर बांध और पूर्वपश्चिम सडक संचरना के संबंध में मोदी जी का ध्यनाकर्षण करना चाहिए ।
इसीतरह सांसद अमरेशकुमार सिंह का कहना है कि बागमती नदी में आनेवाला बाढ़ और क्षति न्यूनीकरण के लिए भौतिक पूर्वाधार निर्माण करने की जरुरत है । उन्होंने यह भी कहा कि हुलाकी सडक मार्ग निर्माण विलम्ब हो रहा है । उस को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए सांसद सिंह ने सरकार से आग्रह किया ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of