सार्क सम्मेलन, भारत की गरज पाकिस्तान में सुनाई दी,

इस्लामाबाद.

rajnath43_1470153326पाकिस्तान में होम मिनिस्टर्स के सार्क कॉन्फ्रेंस में भारत-पाक के बीच सिर्फ तल्खी दिखी। गुरुवार को प्रोग्राम शुरू हुआ तो दोनों देशों के होम मिनिस्टर्स आमने-सामने तो हुए, पर फॉर्मल हैंडशेक तक नहीं किया। राजनाथ की स्पीच टेलिकास्ट नहीं होने दी गई। इसके बाद राजनाथ ने वहां के होम मिनिस्टर चौधरी निसार की ओर से दिया गया लंच छोड़ दिया। चार घंटे पहले ही दिल्ली लौट आए। सीधे पीएम से मुलाकात कर रिपोर्ट दी। शुक्रवार को वे संसद में पाक दौरे पर बयान देंगे। बता दें कि 1947 में बंटवारे के बाद ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी भारतीय मंत्री ने पाकिस्तान को उसकी जमीन पर ही इस तरह लताड़ लगाई हो पाक होम मिनिस्टर कॉन्फ्रेंस वेन्यू पर सबका वेलकम कर रहे थे। राजनाथ वहां पहुंचे।
दोनों मंत्रियों ने बमुश्किल से एक-दूसरे का हाथ छुआ। फॉर्मल हैंडशेक नहीं किया। पीटीआई के मुताबिक, जैसे ही राजनाथ आए, वे निसार से मिले और तुरंत आगे बढ़ गए। कश्मीर में मारे गए आतंकी बुरहान वानी के मुद्दे पर कहा- ”आतंकियों को शहीद कह कर महिमामंडित करना गलत है। पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा- अच्छा और बुरा आतंकवाद नहीं होता।
पठानकोट, काबुल और ढाका जैसे हमलों का जिक्र करते हुए कहा, ”आतंकवादियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जरूरत है।”

उन्होंने कहा कि मुंबई हमले के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। सार्क में राजनाथ की स्पीच को पाकिस्तान सरकार ने टेलिकास्ट से रोक दिया। केवल पाकिस्तानी सरकारी चैनल पीटीवी को स्पीच कवर करने की इजाजत थी।
इयन मीडिया ही नहीं, पाकिस्तान के प्राइवेट चैनल को भी इसकी कवरेज की इजाजत नहीं मिली।नई दिल्ली से आई इंडियन मीडिया को दूर रखा गया। इसे लेकर पाकिस्तानी अफसरों से कहासुनी भी हुई।समझा जा रहा है कि स्पीच की कवरेज रोके जाने से नाराज राजनाथ सिंह ने लंच छोड़ दिया।
सार्क कॉन्फ्रेंस के मेजबान देश के तौर पर पाकिस्तानी होम मिनिस्टर चौधरी निसार ने लंच दिया था। वह भी वहां नहीं पहुंचे। इसके बाद राजनाथ भारत के लिए रवाना हो गए।

ब्लैक आउट पर सफाई की कोशिश

देर शाम भारत और पाकिस्तान सरकारों की तरफ से यह बताने की कोशिश की गई की राजनाथ की स्पीच ब्लैक आउट नहीं की गई थी।
सरकारी सूत्रों के मुताबिक, सार्क कॉन्फ्रेंस में मेजबान देश की ही स्पीच पब्लिक की जाती है। बाकी कार्यवाही इन कैमरा रहती है।
इस बीच, पाकिस्तीनी मंत्री ने कहा कि आरोप-प्रत्यारोप से किसी का फायदा नहीं होने वाला। भारत कश्मीर में फोर्स का इस्तेमाल बंद करे।

 

loading...