साेमवार दाेपहर के बाद सजा सुनाई जाएगी गुरमित काे

रोहतक।

२८ अगस्त

सोमवार को रोहतक में सीबीआई की विशेष अदालत डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को साध्वी यौन शोषण मामले में सजा सुनाएगी। यह पहली बार होगा जब हरियाणा के किसी जेल परिसर में अदालत लगाकर सजा सुनाई जाएगी। सजा के एलान से पहले हरियाणा के साथ पंजाब भी हाई अलर्ट पर है। सजा सोमवार दोपहर 2.30 बजे सुनाई जाएगी।

सोमवार को हरियाणा में सभी निजी और सरकारी स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। वहीं सिरसा के अलावा अन्य सभी जगहों से कर्फ्यू हटा दिया गया है। एहतिअातन पंजाब और हरियाणा में मोबाइल इंटरनेट सेवा को बंद रखने का फैसला किया गया है। यह रोक मंगलवार सुबह 11.30 बजे तक जारी रहेगी। डेरा सच्चा सौदा सिरसा मुख्यालय में भी इंटरनेट की सभी लीज लाइनें बंद कर दी गई हैं। अदालत ने दोषी करार देने का फैसला भी दोपहर बाद ढाई बजे ही सुनाया था। सजा का एलान भी सोमवार को दोपहर ढाई बजे के बाद होगा।

डेरा प्रमुख पर लगी तीन धाराओं में प्रमुख धारा दुष्कर्म की है। इसमें न्यूनतम सात साल की सजा और अधिकतम आजीवन कारावास की सजा है। सीबीआई के विशेष जज जगदीप सिंह हेलीकॉप्टर में पंचकूला से रोहतक में स्थित सुनारिया जेल पहुंचेंगे, जहां विशेष अदालत लगाई जानी है।

हाई कोर्ट में ही की जा सकेगी अपील : तीन साल से कम सजा होने पर सीबीआई जज को जमानत पर छोड़ने का अधिकार है। इससे अधिक सजा की स्थिति में ऑर्डर मिलते ही दोषी जमानत के लिए हाई कोर्ट में आवेदन कर सकता है। चूंकि दुष्कर्म में न्यूनतम सात साल की सजा निर्धारित है, इसलिए राम रहीम के पास जमानत के लिए हाई कोर्ट में अपील करने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं। हाई कोर्ट के फैसले तक उसे जेल में ही रहना होगा।

उपद्रव किया तो गोली मारने के आदेश : पंचकूला में हुई आगजनी से सबक लेते हुए रोहतक में पुलिस और सुरक्षा बलों को मौके पर ही तुरंत एक्शन लेने की छूट रहेगी। मोर्चा संभाले जवानों को संदिग्ध गतिविधि पर असामाजिक तत्वों को गोली मारने के निर्देश दिए गए हैं। सुबह से ही पूरा रोहतक और सिरसा सेना की निगरानी में रहेगा। पूरे जेल परिसर की सुरक्षा कड़ी करते हुए रोहतक में अर्धसैनिक बलों की 23 कंपनियां तैनात की गई हैं। सेना स्टैंड बाई पर रहेगी, जबकि पूरे जोन के अलावा प्रदेश के दूसरे स्थानों से बुलाए गए पुलिस अधिकारी और जवान भी मोर्चा संभाले रहेंगे।

अब तक 38 की मौत : डेरा प्रेमियों के उपद्रव में मरने वालों की संख्या 38 तक पहुंच गई है। शुक्रवार को भड़की हिसा में जहां पंचकूला में कुल 32 लोगों की मौत हुई, वहीं सिरसा में छह डेरा समर्थक मारे गए। हरियाणा ने पंजाब को नहीं दिया कोई इनपुट : पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिह ने कहा कि पंचकूला में हुई हिसा पर कहा है कि इस मामले में हरियाणा के मुख्यमंत्री से उनकी कोई बात नहीं हुई है। इसको लेकर हरियाणा ने पंजाब सरकार को कभी कोई इनपुट उपलब्ध नहीं कराया। बता दें कि पंचकूला की हिसा में पंजाब के 11 लोगों की मौत हुई है।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: