सिके राउत का पासपोर्ट और बैंक खाता फ्रिज, गर्भवती पत्नी का उपचार खर्च मे समस्या

 ck-passport

मनोज बनैता, सिरहा, १२ अप्रैल । नेपाल सरकार द्धारा डा. राउत को आधारभूत अधिकार से भी वञ्चित कियागयास्वतन्त्र मधेश गठबन्धन के संयोजक डा.सिके राउत का पासपोर्ट और बैंक खाता फ्रिज कर दिया गया है । चैत्र १५ गते नेपाल पुलिस द्वारा डा.राउत का पासपोर्ट फ्रिज करने लिए परराष्ट्र मन्त्रालय को चिठी लिखी गयी थी । इसीतरह बैंक खाता रोकने के लिए चैत्र १६ गते बैंक को पत्र पठाया गया था । पासपोर्ट और बैंक खाता रोकने के लिए अदालत ने भी मन्जुरी दे दी है ।

इलाका प्रहरी कार्यालय लहान, सिरहा ने डा.राउत राज्य विरुद्ध के संगठित अपराध मे संलग्न रहने का आरोप लगाकर राहदानी विभाग को पासपोर्ट रोक्का और नयाँ पासपोर्ट जारी नही करने के लिए चिठी भेजी है । इसीतरह सिरहा जिला अदालत का न्यायाधीश ध्रुव प्रसाद सापकोटा ने डा.राउत के नाम मे रहे कुमारी बैंक पुतली सडक का बैंक खाता और सनराईज बैंक लिमिटेड राजविराज सप्तरी मे रहे खाता रोकने के लिए आदेश दिया है । पारिवारीक स्रोत के अनुसार डा.राउत अपने सन्तान के अध्ययन खर्च तथा जनकपुरधाम मे रहरहे डेरा के भाडा उसी बैंक खाता मे से निकालकर खर्च करते आए है ।

बैंकका खाता रोक्का होने के बाद गर्भवती रहे डा.राउत के पत्नी का उपचार खर्च मे भी समस्या होने की जानकारी परिवारजन ने दी है । इसीतरह नेपाल प्रहरी ने डा.राउत का वेवसाइट, फेसबुक पेज, फेसबुक अकाउण्ट, ट्वीटर अकाण्ट लगायत का सम्पूर्ण माध्यम बन्द करने लगा है । प्रहरी ने माघ २५ गते प्रहरी प्रधान कार्यालय को उस सम्बन्ध मे पत्र भी पठाचुका है । नेपाल सरकारने डा.राउत का पासपोर्ट और बैंक खाता रोक्का करके आधारभुत अधिकार से भी बञ्चित करने पर अन्तर्रा्ष्ट्रिय मानव अधिकारवादी संस्थाआ ने नेपाल सरकार का जमके आलोचना किया है । एशियन ह्युमन राइट कमिसन के अनुसार डा.राउत को सोशल मिडिया प्रयोग करने से रोक लगाना अभिव्यक्ति स्वतन्त्रता के खिलाफ है । एक विज्ञप्ती जारी करते हुवे एशियन ह्युमन राइटस ने डा.राउत को मानव अधिकार से बञ्चित करने पर अन्तर्रा्ष्ट्रिय संघसंस्थाओं का समेत ध्यानाकर्षण करवाया है ।

ptra

Loading...

Leave a Reply

1 Comment on "सिके राउत का पासपोर्ट और बैंक खाता फ्रिज, गर्भवती पत्नी का उपचार खर्च मे समस्या"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
wpDiscuz
%d bloggers like this: