Mon. Sep 24th, 2018

सियासी दंगल

दशे मे आम चनुाव समय पर हागेा या  नहीं और अगर चुनाव हुआ तो यह  कितना सफल और शान्तिपर्ूण्ा होगा, इसकी कोई  ग्यार ेन्टी नहीं है । लेकिन काठमांडू की गद्दी पाने के लिए सियासी दंगल जारी है । देश एक ऐसे वातावर ण से गुजर र हा है, जहाँ इस समय अन्य बाते गाण् ह, चनुाव ही मख्य है । हर आरे गहमा- गहमी शुरु हो गई है । चुनाव अच्छी हो या बुरी, लेकन लाके तन्त्र मे चनुाव हानेा अनिवायर्  है ।तभी तो र्सार्त्र जैसे महान् विचार क का कहना है कि चनुाव के द्वारा उन लागे का पकडना हाते
है जिन्हानं हमे बवेकपू  बनाया है । जनता आरै उसके प्रि तनिधियाे की आखँ मिचानैी विगत बीस वषार्ंे से चल र ही है । हर बार यही हातेा है कि दसू र का जीतन वाली जनता पा्र यः खदु हार जाती है । अभी तक हवा किसी की नहीं है, कल कोई आँधी चल जाए यह दूसर ी बात है

madhesh khabar
madhesh news

 

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of