सीमा सुरक्षा के लिए कार्यशाल::वरुणमाला मिश्रा

भारत-नेपाल सीमा क्षेत्र में सूचना आदान-प्रदान कर आपसी मित्रवत सम्बन्ध को और भी मजबूत बनाने के उद्देश्य से गत दिनों विराटनगर के उद्योग संगठन भवन प्रांगण में दो दिवसीय इण्डो-नेपाल मीडिया चिफ आँफ मिशन जयदीप मजुमदार ने दीप प्रज्वलित कर किया। इस मौके पर मुख्य अतिथि मजुमदार ने कहा कि सीमा के दोनों ओर का मीडियाकर्मी सूचना आदान-प्रसादन कर आपसी सहयोग से समाचार सम्प्रेषन करेगें तो सीमा क्षेत्र के कार्य समस्याओं का समाधान हो जाएगा। साथ ही भारत-नेपाल के बीच सदियों से चली आ रही सम्बन्ध को ओर भी मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि भारत में ६० लाख नेपाली है, जो सम्मान के साथ रोजगार कर जीवन यापन कर रहे है। आज भी भारत सरकार १ लाख २५ हजार अवकाश प्राप्त पर्ूव सैनिकों पर प्रत्येक वर्ष१३ अर्ब रुपये खर्च करती है, जो आज भी सुखी है। भारत सरकार के सहयोग से सडÞक, विद्यालय सहित अनय लगभग ४०० छोटी-बडÞी योजनाएँ का संचालित रहने की बात कही। उन्होंने कहा कि नेपाली जनता तथा भारतीय के बीच सामाजिक, सांस्कृतिक संहिता रहन-सहन, भेष-भूषा की समानता है, जो अन्य मुलुक में नहीं हैं।
नेपाल प्रेस इन्स्िच्यूट तथा वीपी कोइराला फाउण्डेशन के तत्वधान में आयोजित कार्यशाला का अध्यक्षता नेपाल प्रेस इन्सच्यूट का सचिव शोमा गौतम ने किया। वही स्वागत भाषणा चिरंजीवी खनाल ने दिया। इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार हर्षसुब्बा कार्यक्रम का उद्देश्य पर प्रकाश डाल। मंच संचालन मंजु साह ने तथा धन्यवाद ज्ञापन संस्था के कोडिनेटर वीरेन्द्र शर्मा ने दिया। कार्यक्रम को अन्य वक्ता मोरंग के सीडियों सुरेश अधिकारी, उद्योग संगठन के अध्यक्ष दिनेश गोल्छा, पत्रकार महासंघ मोरंग के अध्यक्ष विक्रम निरोला ने भी सम्बोधित कर भारत-नेपाल के सदियों पुराने सम्बन्ध तथा मीडिया का भूमिका पर प्रकाश डाला।
इस अवसर पर विशिष्ट अतिथियों में भारतीय दूतावास के प्रथम सचिव अपर्ूवा श्रीवास्तव, सभासद मोती दुगड, एआईजी कल्याण तिमिल्सिना, दूतावास के द्वितीय सचिवद्वय एन शशि कुमार, निरज तिवारी, नन्द किशोर राठी, ओम प्रकाश के अलावे भारती तहाद में उद्योगी, व्यापारी, प्रबुद्धजन मौजूद थे। कार्यक्रम में दोनों देश के लगभग ५ दर्जन इलेक्ट्रोनिक तथा प्रिंट मीडिया के प्रतिनिधि शामिल हुए।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: