सुनंदा के परिवार ने किसी पर शक से किया इंकार, ‘जहर से मौत’

shashi-sunanda-2नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्‍नी सुनंदा पुष्‍कर की मौत के कारण का खुलासा करने के लिए अब पुलिस ने कमर कस ली है। सुनंदा की मौत के संबंध में पुलिस जल्दी ही शशि थरूर से पूछताछ कर सकती है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ‘जहर के कारण मौत’ होने के संकते मिले हैं, इसके बाद एसडीएम ने पुलिस को मामले की जांच के आदेश दिए हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जो चीजे सामने आई हैं, उसी को आधार बनाते हुए मामले की आगे की जांच की जाएगी। की शुक्रवार को नई दिल्ली के होटल लीला में संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी।
मरने से पहले सुनंदा ने की थी मेहर से फोन पर बात
एक अग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक सुनंदा पुष्कर ने बुधवार (15 जनवरी) को पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के साथ फोन पर बात भी थी। यहीं नहीं अपने पति थरूर के मेहर के साथ कथिक अफेयर से खफा सुनंदा ने लोधी रोड आवास के बजाय होटल में रहने का फैसला किया। रिपोर्ट के मुताबिक सुनंदा मौत के दिन शुक्रवार को बेहद ज्यादा नर्वस थीं और इस दौरान होटल में उनके कई दोस्तों ने भी उन्हें समझाने की कोशिश की लेकिन वे विफल रहे। बुधवार को तिरुवनंतपुरम से दिल्ली आने के दौरान सुनंदा और थरूर के बीच फ्लाइट में और एयरपोर्ट भी काफी कहासुनी हुई।
sunanda-tharoorसुनंदा के परिवार ने किसी पर शक से किया इंकार
बसंत विहार के एसडीएम आलोक शर्मा ने सरोजनी नगर थाने के एसएचओ को जांच रिपोर्ट सौंप दी है। सीआरपीसी की धारा 176 के तहत मजिस्ट्रेट द्वारा की गई शुरुआती जांच में निर्मता, प्रताड़ना और दहेज के कारण शोषण के सबूत नहीं मिले हैं। सूत्रों का कहना है कि परिवार के लोगों ने सुनंदा की मौत को लेकर किसी पर कोई शक जताने से भी इंकार किया है।
11 लोगों से की मजिस्ट्रेट ने पूछताछ
मजिस्ट्रेट ने अभी तक करीब 11 लोगों से  शुरुआती तौर पर पूछताछ की है। इनमें सुनंदा का भाई राजेश और आशीष पुष्कर, सुनंदा के बेटे शिव मेनन, निजी सचिव आरके शर्मा, कंसल्टेंट शिव कुमार, अटेंडेंट नारायण व बजरंगी, सुनंदा का उपचार करने वाले दो ड़ॉक्टर शामिल हैं। इसके अलावा पुलिस ने वरिष्ठ पत्रकार नलिनी सिंह से भी पूछताछ की है, जिनसे सुनंदा ने मौत से पहले वाली आखिरी रात को बात की थी।
आगे क्या करेगी पुलिस?
सूत्रों का कहना है कि पुलिस अब आगे यह जांच करेगी कि सुनंदा की मौत आत्महत्या थी या मौत? पुलिस थरूर और सुनंदा के पिता और भाई को समन भी जारी करेगी। साथ ही पुलिस नए सिरे से थरूर और अन्य लोगों के बयान दर्ज करेगी। एसडीएम ने अभी तक होटल की सीसीटीवी फुटेज नहीं देखी है। पुलिस अभी एसडीएम को दिए गए 11 लोगों के बयानों की जांच कर रही है।
सूत्रों का कहना है कि फोरेंसिक लैब की रिपोर्ट के बाद ही इस बात की पुष्टि होगी कि आखिर किस तरह के जहर के कारण सुनंदा की मौत हुई है। पोस्टमार्टम के दौरान लिए गए सैंपल लैब में भेजे जा चुके हैं।
एसडीएम को दिए गए बयान में सुनंदा के परिचितों ने क्या कहा?
सूत्रों का कहना है कि नलिनी सिंह ने रविवार को एसडीएम को मौखिक बयान भी दिया और इसके बाद दो पेज का स्टेटमेंट भी दिया है।
करीब चार साल से सुनंदा के घर में काम करने वाले नारायण ने एसडीएम को बताया कि थरूर अकसर सुनंदा से झगड़ते रहते थे और यही नहीं 17 जनवरी को सुनंदा की मौत के दिन भी कहासुनी हुई थी।
 नारायण ने एसडीएम को बताया कि जब वह चार बजे पहुंचा तो उसने आर के शर्मा के साथ मिलकर सुनंदा को साढ़े चार  से साढ़े पांच के बीच दो बार जगाने की कोशिश की। जब सुनंदा की ओर से कोई जवाब नहीं आया तो उन्होंने करीब 7:30 बजे थरूर को कॉल किया। थरूर ने होटल पहुंचकर अपनी चाबी से दरवाजा खोला तो सुनंदा को कमरे के भीतर मृत पाया।

क्या है पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में?
सुनंदा के शरीर में अल्‍कोहल के अंश नहीं मिले हैं।
-सुनंदा के चेहरे और हाथों पर दस से ज्यादा खरोंच से बने निशान भी थे। हालांकि, उन्हें जानलेवा नहीं कहा जा सकता।।
-रिपोर्ट के मुताबिक सुनंदा की मौत प्राकृतिक नहीं थी।
-सुनंदा की मौत की प्रमुख वजह डिप्रेशन की दवा अल्प्राजोलम का ओवरडोज हो सकती है।
-पुलिस को सुनंदा के कमरे से अल्प्राजोलम (अल्प्रैक्स) की दो खाली स्ट्रिप्स मिली थी। सुनंदा ने शायद 27 टेबलेट्स खाई थी।
-एक्सपर्ट्स का कहना है कि अल्प्राजोलम की ज्यादा मात्रा से दिमाग की कार्यप्रणाली प्रभावित होती है। बेहोशी और मौत संभव।
-सुनंदा की मौत जहर के कारण हुई, हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट न तो आत्महत्या को खारिज करती है और न ही इसकी पुष्टि करती है। हालांकि सूत्रों ने जहर की प्रकृति को जाहिर नहीं किया है।
-पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चलता है कि सुनंदा की मौत शाम को चार बजे से सात बजे के बीच हुई।
– एक अंग्रेजी अखबार का ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि सुनंदा की मौत असावधानीवश ड्रग ओवरडोज की वजह से नहीं हुई है। बल्कि जानबूझकर ओवरडोज बनाया गया है।
Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz